Home » इंडिया » China opens new front on LAC, now doing cross border in this area
 

LAC पर चीन ने खोला नया फ्रंट, अब इस क्षेत्र में कर रहा है बॉर्डर क्रॉस, भारी संख्या में वाहन तैनात

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2020, 9:31 IST

भारत और चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स और पैंगॉन्ग त्सो ( Pangong Tso) तीन जगहों पर आमने-सामने हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार चीनी सेना ने उत्तर में स्थित एक अन्य रणनीतिक क्षेत्र डेपसांग प्लेन्स (Depsang plains) पर बॉर्डर क्रॉस किया है. इस घुसपैठ को चीन द्वारा विवादित सीमा पर LAC को पश्चिम में शिफ्ट करने के एक प्रयास के रूप में देखा जा रहा है. यह जगह दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) एयरस्ट्रिप से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार चीनी सेना को बड़ी संख्या में डेपसांग प्लेन्स के वाई-जंक्शन या बॉटलनेक पर शिफ्ट कर दिया गया है.

सूत्रों का कहना है कि चीनी तैनाती में भारी वाहन, विशेषज्ञ सैन्य उपकरण भी शामिल हैं. बॉटलनेक वह जगह है जिस पर अप्रैल 2013 में चीन ने टेंट लगाए थे. दोनों पक्षों के सैनिकों के बीच गतिरोध तब तीन सप्ताह तक चला था और राजनयिक वार्ता के बाद यथास्थिति बहाल की गई. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अब चीन की नजर नई जगहों पर है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार एक हाई रेजोल्यूशन इमेज में खुलासा हुआ है कि गलवान नदी के आसपास लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएली) पर चीनी सेना ने बड़ी संख्या में निर्माण किया है. इन हाई रेजोल्यूशन सैटेलाइट इमेज में दिख रहा है कि गलवान घाटी के पेट्रोल प्वाइंट-14 के नजदीक एक टेंट नजर आ रहा है. दूसरी इमेज में एलएसी के पास चीनी सेना की मौजूदगी और उसका निर्माण कार्य साफतौर पर नजर आ रहा है. सेना प्रमुख जनरल मनोज नरवणे ने बुधवार को पूर्वी लद्दाख में सैनिकों से मुलाकात की और चीन के साथ हालिया गतिरोध में शामिल लोगों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये.


भारत और चीन के बीच कोर कमांडर-स्तर की वार्ता के एक दिन बाद लद्दाख में जनरल नरवाना ने यात्रा की. सेना प्रमुख ने पूर्वी लद्दाख में जमीन पर परिचालन की स्थिति की समीक्षा की. सेना प्रमुख ने इस दौरान सैनिकों की उनके साहस के लिए सराहना की. सेना ने ट्विटर पर कहा जनरल नरवने ने मंगलवार को लेह सैन्य अस्पताल का दौरा किया जहां उन्होंने 15 जून को गलवान में हुई हिंसक झड़प में घायल हुए सैनिकों के साथ बातचीत की, इस झड़प में एक कर्नल सहित 20 सैनिक शहीद हो गए थे.

Ladakh stand-off : चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने मीटिंग में गलवान झड़प को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

First published: 25 June 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी