Home » इंडिया » Chinese troops pull back two kilometers on LAC; PM's visit gets a strong message
 

LAC पर दो किलोमीटर पीछे हटे चीन के सैनिक, PM मोदी की लेह यात्रा से मिला कड़ा संदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 July 2020, 13:36 IST

वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीनी सैनिकों ने वापसी के संकेत दे दिए है. एक रिपोर्ट के अनुसार 15 जून को जहां झड़प हुई थी, वहां से चीनी सैनिक 2 किलोमीटर पीछे हट गए हैं. द हिन्दू की रिपोर्ट के अनुसार चीन और भारत ने गलवान घाटी में सैनिकों को पीछे खींच लिया है और एक बफर जोन बनाया गया है. यह वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीनी सैनिकों की वापसी का पहला संकेत है. कहा गया है कि चीनी सेना ने भारतीय सेना के साथ कोर कमांडर स्तर की वार्ता के बाद उन जगहों से 1 से 2 किलोमीटर की दूरी पर टेंट, वाहनों और सैनिकों को वापस ले जाने पर सहमति जताई है. सीमा पर चीनी मौजूगदी के मद्देनजर भारत ने भी अपनी मौजूदगी को उसी अनुपात में बढ़ाते हुए बंकर और अस्थायी ढांजे तैयार कर लिए थे.

ANI के अनुसार ''कॉर्प्स कमांडर लेवल की बातचीत में जिन जगहों पर डिसएंगेजमेंट की सहमति बनी थी, वहां से चीनी सेना ने टेंट, वाहनों और सैनिकों को 1-2 किलोमीटर पीछे हटा लिया है. गलवान नदी क्षेत्र में चीनी भारी बख्तरबंद वाहन अभी भी डेप्थ वाले क्षेत्रों में मौजूद हैं. भारतीय सेना सतर्कता के साथ स्थिति की निगरानी कर रही है''. जानकारों का कहना है कि इन बैठकों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लेह यात्रा की थी, जिससे चीन को एक कड़ा संदेश गया.


कमांडर स्तर की बातचीत में 30 जून को बनी सहमति के मुताबिक चीनी सैनिक पीछे हटे या नहीं, इसको लेकर रविवार को एक सर्वे किया गया था. रिपोर्ट के अनुसार एक अधिकारी ने बताया ''चीनी सैनिक हिंसक झड़प वाले स्थान से दो किमी पीछे हट गए हैं. दोनों देश अस्थायी ढांचे हटा रहे हैं.'' लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच लगभग दो महीने से टकराव के हालात बने हुए हैं.

ग्वादर पोर्ट और आर्थिक गलियारा बचाने के लिए पाकिस्तान को चीन देने जा रहा है चार हमलावर ड्रोन

इससे पहले छह जून को दोनों सेनाओं में पीछे हटने पर सहमति बनाई थी लेकिन चीन उसका पालन नहीं कर रहा था. 15 जून की खूनी झड़प के बाद दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच वार्ता हुई और 22 जून को सैन्य कमांडरों ने भी कई घंटे लंबी बैठक की. 3,488 किलोमीटर वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत ने बड़ी संख्या में सेना तैनात की है.

सीमा पर चीन के साथ तनाव के बीच केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने दलाई लामा को दी जन्मदिन की बधाई

First published: 6 July 2020, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी