Home » इंडिया » Chrdham Yatra 2020: Uttarakhand government will release guideline for Kedarnath, Badrinath, Gangotri and Yamunotri Yatra
 

चारधाम यात्रा के लिए आज जारी की जाएगी गाइडलाइ, एक जुलाई से शुरु होगी यात्रा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2020, 11:12 IST

Chardham Yatra 2020: लंबे विचार-विमर्श के बाद आखिरकार चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) शुरु करने का रास्ता साफ हो गया. उत्तराखंड़ (Uttarakhand) के चार तीर्थ स्थानों के लिए होने वाली चारधाम यात्रा एक जुलाई (1st July) से शुरु होने जा रही है. जिसके लिए उत्तराखंड सरकार (Uttrakhand Government) तैयारी कर रही है. चारधाम यात्रा के लिए आज उत्तराखंड सरकार का नई गाइडलाइन (New Guidline) जारी करने जा रही है. जिसमें राज्य के भीतर एक जिले से दूसरे जिले में लोगों को चारों धामों के दर्शन करने की सीमित लोगों को ही अनुमति दी जाएगी. उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन ने बताया कि अभी राज्य के भीतर के लोगों को ही चारधाम यात्रा की मंजूरी दी जा रही है.

इसके लिए लोगों को सम्बन्धित धाम के जिला प्रशासन से मंजूरी लेनी होगी. सोमवार तक तीनों जिला प्रशासन वेबसाइट जारी कर देगा. स्थानीय प्रशासन से यात्रा पास जारी होने के बाद ही लोग यात्रा कर सकेंगे. अभी तक धामों से जुड़े जिलों उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली के भीतर के ही स्थानीय लोगों को ही यात्रा की मंजूरी दी गई थी. वहीं बदरीनाथ धाम में तो पूरे जिले को भी मंजूरी नहीं थी. बता दें कि चारधाम यात्रा शुरु होने के बाद भी उत्तराखंड के कंटेनमेंट जोन के लोगों को चारों धामों में दर्शन करने की अनुमति नहीं होगी.


Gupt Navratri 2020: जानिए क्या होते हैं गुप्त नवरात्र, तांत्रिकों के लिए क्यों होते हैं खास

इसी के साथ राज्य के लोगों को अपने स्थानीय निवासी होने का प्रमाण आईडी के रूप में दिखाना होगा. क्वारंटाइन किए गए लोगों को भी धाम में जाने की अनुमति नहीं होगी. वहीं उत्तराखंड से बाहर के किसी दूसरे राज्य के लोग भी फिलहाल चारधाम यात्रा नहीं कर पाएंगे. बता दें कि चारधाम में लोगों को बेहद सीमित संख्या में प्रवेश दिया जाएगा. जिसमें बदरीनाथ धाम में 1200, केदारनाथ 800, गंगोत्री 600, यमुनोत्री में 400 लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा. अभी भी जिलों के भीतर स्थानीय लोगों के दर्शन करने की संख्या बहुत कम रही है. नौ जून से अभी केदारनाथ धाम पहुंचने वालों की संख्या 57, बदरीनाथ धाम में 213 लोग ही दर्शन को पहुंचे जबकि गंगोत्री व यमनोत्री तो कोई यात्री नहीं पहुंचा है.

 

कोरोना वायरस: केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, इस साल हज यात्रा पर नहीं जाएगा कोई भारतीय

गौरतलब है कि हर साल इनदिनों में उत्तराखंड के चारों धामों की यात्रा शुरु हो जाती है. उसके बाद देश-विदेश से आने वाले लाखों यात्री चारों धामों की यात्रा करते हैं. लेकिन इस बार कोरोना वायरस के चलते चारधाम यात्रा अभी तक शुरु नहीं की गई है. अब इसे 1 जुलाई से शुरु किया जा रहा है. लेकिन फिलहाल उत्तराखंड के मूल निवासी ही यात्रा कर सकेंगे, अन्य राज्यों के तीर्थ यात्री अभी चारधाम यात्रा पर नहीं जा सकेंगे. उनके जाने पर अभी रोक बरकरार रहेगी. तीर्थ पुरोहितों में भी एक वर्ग यात्रा संचालन को तैयार है. अभी बेहद सीमित संख्या में लोगों को अनुमति दी जा रही है. उस संख्या के अनुरूप तैयारियां पूरी हैं. आज इसकी गाइड लाइन जारी कर दी जाएगी.

घर में जरूर लगाएं ये पौधा, मिल जाएगा आपकी सारी परेशानियों का हल!

First published: 29 June 2020, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी