Home » इंडिया » Citizenship Amendment Bill 2019: Asaduddin Owaisi tears bill copy in Lok Sabha
 

ओवैसी ने लोकसभा में गुस्से में फाड़ा नागरिकता संशोधन बिल, कहा- मुस्लिमों से नफरत करती है सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 December 2019, 10:09 IST

Citizenship Amendment Bill 2019: लोकसभा(Lok Sabha) में तीखी बहस के बीच सोमवार को आधी रात में नागरिकता संसोधन बिल पास हो गया. बिल का कांग्रेस(Congress) पार्टी समेत कई विपक्षी पार्टियों ने विरोध किया. AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध किया.

ओवैसी ने इस दौरान कहा कि यह कानून देश को दोबारा बंटवारे के लिए बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि यह हिटलर के कानून से भी बदतर है. इस दौरान ओवैसी काफी गुस्से में दिखे. उन्होंने लोकसभा में विरोध स्वरूप बिल की कॉपी फाड़ डाली. ओवैसी ने कहा कि यह सरकार मुसलमानों से नफरत करती है.

AIMIM चीफ ने बिल को सुरक्षा के लिहाज से भी बलंडर बताया. उन्होंने कहा कि देश को दोबारा बांटने के लिए यह बिल लाया जा रहा है. सरकार से उन्होंंने पूछा कि हम मुसलमानों का गुनाह क्या है? इसके आगे बिल फाड़ते हुए उन्होंन कहा कि क्योंकि यह हिन्दुस्तान को तोड़ने का काम करता है, इसलिए वह बिल को फाड़ते हैं. 

ओवैसी ने यह भी कहा कि सरकार मुसलमानों को नागरिकता न दे, लेकिन गृह मंत्री बता दें कि मुसलमानों से इतनी नफरत क्यों है? उन्होंने कहा कि विधेयक को हमें एनआरसी के नजरिए से देखने की जरूरत है. जो हिन्दू एनआरसी में छूट गए उनके लिए यह विधेयक लाया गया. ओवैसी ने कहा कि दरअसल ये मुसलमानों को देश विहीन करने की साजिश है.

लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश, गृह मंत्री बोले- ये अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं

लोकसभा में आधी रात को पास हुआ नागरिकता संशोधन बिल, अब राज्यसभा में होगा पेश

First published: 10 December 2019, 9:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी