Home » इंडिया » CJI Gogoi gets clean chit in sexual harassment case
 

यौन उत्पीड़न मामले में CJI गोगोई को क्लीन चिट, जांच समिति को नहीं मिला कोई सबूत

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2019, 17:55 IST

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच कर रहे तीन-न्यायाधीशों के पैनल ने CJI गोगोई को मामले में क्लीन चिट दे दी है. अदालत के महासचिव ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली इन-हाउस कमेटी को सुप्रीम कोर्ट की पूर्व महिला कर्मचारी के आरोपों का कोई सबूत नहीं मिला. महिला ने CJI रंजन गोगोई पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. 

रंजन गोगोई के खिलाफ आरोपों की जांच जस्टिस एसए बोबड़े, इंदु मल्होत्रा और इंदिरा बनर्जी के तीन-न्यायाधीश पैनल द्वारा की जा रही थी. अदालत ने कहा कि 2003 के फैसले के अनुसार रिपोर्ट की सामग्री को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है.

 

35 वर्षीय शिकायतकर्ता 30 अप्रैल को जांच की कार्यवाही से हट गई, लेकिन समिति ने उसकी अनुपस्थिति में जांच को आगे बढ़ाने का फैसला किया था. अगले दिन जांच समिति के सामने गोगोई पेश हुए.

इससे पहले मीडिया में खबर आयी थी कि जस्टिस चंद्रचूड़ इस मामले पर फुलकोर्ट की मांग की थी. उन्होंने अपने पत्र की सामग्री पर चर्चा करने के लिए 2 मई को जस्टिस बोबडे से मुलाकात की थी.

पत्र में समिति को व्यापक बनाने के लिए एक बाहरी सदस्य को शामिल करने का भी तर्क दिया गया था. साथ ही सुप्रीम कोर्ट के तीन सेवानिवृत्त महिलाओं के नामों का चयन करने का सुझाव दिया था. 

First published: 6 May 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी