Home » इंडिया » CJI Ranjan Gogoi orders to BSP Chief Mayawati to payback money spend on her statue
 

मायावती को SC से बहुत बड़ा झटका, लौटाना पड़ेगा अपनी मूर्तियों और हाथियों पर खर्च किया पैसा

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 February 2019, 13:09 IST

बीएसपी सुप्रीमो मायावती को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. कोर्ट ने कहा है कि मायावती को अपनी और हाथी की मूर्तियों पर खर्च किया पैसा लौटाना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि बसपा नेता मायावती को अपनी और हाथियों की मूर्तियों पर खर्च किए गए सभी सार्वजनिक धन को लौटाना होगा. 

रंजन गोगोई एक याचिका की सुनवाई कर रहे थे. इस पर उन्होंने कहा कि प्रतिमाओं के निर्माण पर सार्वजनिक धन खर्च करने से रोकने के लिए यह दिशा निर्देश दिया गया है. बता दें कि इस मामले की अगली सुनवाई 2 अप्रैल को होगी. सीजेआई साल 2009 में दायर रविकांत और अन्य लोगों द्वारा याचिका पर सुनवाई कर रहे थे.
 
सीजेआई रंजन गोगोई ने मायावती के वकील को कहा कि अपने क्लाइंट को कह दीजिए कि सबसे वह मूर्तियों पर खर्च हुए पैसों को सरकारी खजाने में जमा कराएं. बता दें कि साल 2007 से लेकर 2012 के अपने शासनकाल के दौरान मायावती ने लखनऊ और नोएडा में दो बड़े पार्क बनावाए थे.
 
मायावती द्वारा बनवाए इन पार्कों में उन्होंने अपनी, संविधान निर्माता भीमराव अंबेडकर, दलित नेता कांशीराम और पार्टी के चुनाव चिन्ह हाथी की मूर्तियां बनवाई थीं. एक रिपोट् के मुताबिक, इन मूर्तियों के निर्माण पर 5,919 करोड़ रुपए खर्च किए थे. वहीं साल 2012 में अखिलेश यादव की सरकार बनते ही उन्होंने 40 हजार करोड़ की ’मूर्ति घोटाले’ का आरोप लगाया था और जांच के आदेश भी दिए थे.
 
इससे पहले भी साल 2015 में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश की सरकार से पार्क और मूर्तियों पर खर्च हुए सरकारी पैसे की जानकारी मांगी थी.
First published: 8 February 2019, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी