Home » इंडिया » Clean Ganga activist swami Gopaldas on fast for 116 days, taken to AIIMS, Rishikesh
 

अविरल गंगा के लिए अब स्वामी गोपालदास 116 दिन से उपवास पर, अस्पताल में भर्ती

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 October 2018, 12:47 IST
(Photo: HT)

गंगा को बचाए रखने के लिए 113 दिनों तक उपवास के बाद देह त्यागने वाले स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद के बाद अब गंगा को बचाने के लिए एक और संत विगत 116 दिनों से उपवास पर हैं. 36 साल के स्वामी गोपालदास को ऋषिकेश के एम्स में भर्ती करवाया गया है. उन्हें 24 जून को एम्स में भर्ती करवाया गया. एक सप्ताह में दूसरी बार उन्हें अस्पताल भर्ती करवाया गया है. ऋषिकेश के त्रिवेणी और अन्य घाटों पर गंगा नदी में हो रहे खनन के खिलाफ गोपालदास 116 दिनों तक उपवास पर हैं.

इससे पहले पर्यावरणविद और अकादमिक जीडी अग्रवाल ने गंगा नदी को साफ करने के लिए सरकार से आग्रह किया था और उन्होंने हरिद्वार में अपना अनिश्चितकालीन उपवास शुरू किया था. 86 वर्षीय जीडी अग्रवाल का 11 अक्टूबर को उनकी मृत्यु हो गई थी.

 

जीडी अग्रवाल की मौत के दो दिन बाद गोपालदास को पानी लेने से रोकने के बाद पहली बार एम्स में भर्ती कराया गया था. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार गोपालदास को चिकित्सा उपचार के लिए लाया गया था जब उन्होंने घोषणा की थी कि वह मातृ सदन में आंदोलन शुरू करेंगे, जहां अग्रवाल उनकी मृत्यु से पहले उपवास कर रहे थे.

निर्जलीकरण से पीड़ित गोपालदास का एंडोक्राइनोलॉजी वार्ड में इलाज किया गया था और 15 अक्टूबर को छुट्टी दी गई थी. हरिद्वार में संत लम्बे समय से गंगा को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं. संतों का आरोप है कि सरकार की ही सहमति से लम्बे समय से गंगा में खनन जारी है.

 

First published: 18 October 2018, 12:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी