Home » इंडिया » CM Kejriwal has insulted PM Modi, He should apologize
 

भाजपा ने की माफी की मांग, केजरीवाल अपनी बात पर अड़े

अभिषेक पराशर | Updated on: 16 December 2015, 13:40 IST
QUICK PILL
  • दिल्ली के सीएम ऑफिस पर सीबीआई के छापे को बदले की राजनीति से प्रेरित बताते हुए उन्होंने पीएम मोदी को \'कायर और मनोरोगी\' तक बता डाला. केजरीवाल ने कहा, \'मोदी मुझसे राजनीतिक तौर पर लड़ने की बजाय यह कर रहे हैं.\' 
  • सीबीआई ने अपना पक्ष रखते हुए बताया कि उसने केजरीवाल के प्रिंसपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर छापा मारा है. केजरीवाल के ऑफिस की तलाशी लिए जाने की बात निराधार है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री के दफ्तर पर सीबीआई के छापे की खबर तेजी से घुमाव ले रही है. केजरीवाल ने सुबह ट्वीट करके आरोप लगाया था कि उनके दफ्तर को सीबीआई ने सील कर दिया है. इसके बाद दिल्ली की सियासत में भूचाल आ गया. एक के बाद एक कई ट्वीट कर उन्होंने दिल्ली के सीएम ऑफिस पर न केवल सीबीआई के छापे की जानकारी दी बल्कि प्रधानमंत्री मोदी के लिए मनोरोगी और कायर जैसे शब्दों का भी इस्तेमाल किया.

केजरीवाल का जवाब, जेटली का पलटवार


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सीबीआई ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से जुड़ी फाइलें निकालने के लिए सचिवालय पर छापा मारा था. उन्होंने कहा, 'राजेंद्र तो बस बहाना है, केजरीवाल निशाना है.' 

केजरीवाल के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए अरुण जेटली ने कहा, 'केजरीवाल ने सुबह में जो कहा था वह गलत जानकारी थी. और शाम में वह जो अब कह रहे हैं कोरा कचरा है. मैं उसका जवाब देने की जरूरत नहीं समझता.' 

केजरीवाल ने कहा, 'मोदी मुझसे राजनीतिक तौर पर लड़ने की बजाय यह कर रहे हैं. सीबीआई ने केंद्र सरकार के इशारे पर मेरे ऑफिस पर छापा मारकर उसे सील कर दिया है.' 

हालांकि सीबीआई ने बयान जारी कर उनके इस आरोप को बेबुनियाद करार दिया और कहा कि केजरीवाल राजेंद्र कुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले की जारी जांच को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं. सीबीआई के प्रमुख अनिल सिन्हा ने बयान जारी कर कहा, 'हमने केजरीवाल के ऑफिस पर नहीं बल्कि प्रिंसपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर छापा मारा है.' 

सीबीआई के छापे को बदले की राजनीति से प्रेरित बताते हुए केजरीवाल ने पीएम मोदी को 'कायर और मनोरोगी'  कह डाला

सीबीआई ने कहा, हमने पूरी प्रक्रिया का पालन करते हुए केजरीवाल के प्रिंसपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर छापा मारा है. सीबीआई ने केजरीवाल के ऑफिस की तलाशी लिए जाने या उसे सील किए जाने के आरोपों का खंडन करते हुए उसे पूरी तरह से बेबुनियाद बताया.

केंद्र का पलटवार

कुमार के खिलाफ अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप है और यह मामला 2002-2005 के बीच का है. केजरीवाल के ट्वीट को लेकर मचे हंगामे और विवाद के बाद केंद्र सरकार ने भी राज्यसभा में बयान देकर स्थिति साफ की. राज्यसभा में बयान देते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा,'सीबीआई का छापा अरविंद केजरीवाल के दफ्तर पर नहीं बल्कि उनके प्रिंसपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के ऑफिस पर पड़ा है.' 

arun jaitley.jpg

जेटली ने जोर देकर कहा कि सीबीआई ने भ्रष्टाचार के खिलाफ एक मामले में छापा मारा है और इसका केंद्र सरकार और दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार से कोई लेना-देना नहीं है.

हालांकि केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करने और सीएम दफ्तर को सील किए जाने के आरोप को प्रमाणित करने की बजाए एक और ट्वीट कर जेटली के बयान को झूठा बताने में देर नहीं की. उन्होंने कहा, 'देश के वित्त मंत्री संसद को गुमराह कर रहे हैं.' 

गंभीर आरोप वाले अधिकारी को बचा रहे हैं केजरीवाल

दोपहर बाद बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिए जाने को लेकर केजरीवाल से माफी मांगने की अपील की. उन्होंने कहा, केजरीवाल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से माफी मांगनी चाहिए. प्रसाद ने कहा कि सीबीआई ने 14 जगह पर छापे मारे हैं. 

उन्होंने साफ किया, 'न तो सीएम केजरीवाल के दफ्तर पर छापा पड़ा और नहीं उसे सील किया गया. उनके प्रिंसपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के खिलाफ गंभीर आरोप थे और इस वजह से सीबीआई ने सर्च वारंट के साथ उनके ऑफिस पर छापा मारा.' 

प्रसाद ने कहा कि केवल संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए राष्ट्रपति की मंजूरी लेनी होती है. राजेंद्र कुमार के खिलाफ कार्रवाई किए जाने के लिए न तो किसी को बताने की जरूरत थी और नहीं  किसी से मंजूरी लेने की. प्रसाद ने केजरीवाल पर भ्रष्टाचार को लेकर दोहरा मापदंड लगाने का आरोप लगाया. 

सीबीआई ने किया आप के आरोपों का खंडन

प्रसाद के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सीबीआई की प्रवक्ता देवप्रीत सिंह ने मीडिया को बताया कि सीबीआई ने अभी तक छह लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं.उन्होंने कहा कि 2007 से 2014 के बीच एक निजी कंपनी को ठेका देने के लिए अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किए जाने के मामले में कुमार के दफ्तर पर छापा मारा है.

सिंह ने कहा कि सीबीआई केजरीवाल के सीएम ऑफिस पर छापा मारे जाने और उसे सील किए जाने के आरोप का खंडन करती है. उन्होंने कहा, 'सीबीआई जांच को प्रभावित करने वाले किसी भी झूठे प्रचार की निंदा करती है.' बरुआ ने कहा कि सीबीआई नियमों के मुताबिक काम करती रहेगी.

आप की सफाई

सभी पक्षों की सफाई और प्रतिक्रिया आने के बाद आम आदमी पार्टी की तरफ से मनीष सिसौदिया ने सरकार का पक्ष रखा. उन्होंने हालांकि इस बात का संतोषजनक  जवाब नहीं दिया कि कुमार के खिलाफ आरोप होने के मामले में कार्रवाई किस तरह से गलत है. 

सिसौदिया ने कहा कि मोदी सरकार 'सीबीआई के आतंक' से केजरीवाल को आतंकित करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि अगर राजेंद्र कुमार के बहाने आप केजरीवाल को घेरने की कोशिश करेंगे तो हम आपको चेता रहे हैं कि ऐसा नहीं होने दिया जाएगा.

पीएम मोदी के खिलाफ केजरीवाल की तरफ से आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किए जाने को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, 'बीजेपी को अपने कर्म के लिए माफी मांगनी चाहिए. वह सीबीआई के जरिये हमें डराने की कोशिश कर रही है. बीजेपी अपने कर्म की माफी मांगे फिर हम भी अपनी भाषा के लिए माफी मांग लेंगे.' 

First published: 16 December 2015, 13:40 IST
 
अभिषेक पराशर @abhishekiimc

चीफ़ सब-एडिटर, कैच हिंदी. पीटीआई, बिज़नेस स्टैंडर्ड और इकॉनॉमिक टाइम्स में काम कर चुके हैं.

पिछली कहानी
अगली कहानी