Home » इंडिया » CM mobile network disturbed, police arrested BSNL officials
 

CM के फ़ोन से गायब हुआ नेटवर्क तो BSNL कर्मियों को पुलिस ने घर से उठाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2018, 11:51 IST

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के मोबाइल से नेटवर्क गायब हुआ तो पुलिस ने आधी रात बीएसएनएल के कर्मचारियों को उनके घर से उठा लिया. इतना ही नहीं सीएम के मोबाइल से नेटवर्क जाने की सजा के तौर पर इन अधिकारियों को पुलिस ने करीब तीन घंटे पुलिस थाने में ही बैठाए रखा. हालांकि इसके बाद उन्हें छोड़ दिया गया. गौरतलब है कि झारखंड के दुमका में एक जान चौपाल में हिस्सा लेने पहुंचे सीएम रघुवर दास ने देर रात अपने मोबाइल फ़ोन में नेटवर्क न आने की शिकायत की.

राजभवन में ठहरे मुख्यमंत्री  के फोन में जब काफी देर तक नेटवर्क नहीं आया तो पुलिस ने आनन-फानन में बीएसएनएल के दो कर्मचारियों को उनके घर से उठा लिया. सीएम के मोबाइल के नेटवर्क जाने की वजह से पुलिस ने 'त्वरित कार्यवाई' करते हुए बीएसएनएल के जिला बंधक पीके सिंह और सहायक जूनियर टेलिकॉम अधिकारी को उनके घर से उठा कर पुलिस स्टेशन में 3 घंटे तक बिठाए रखा.

इस मामले में क्षेत्र के पुलिस प्रभारी देवब्रत पोद्दार ने बताया, ''राजभवन में सीएम रुके हुए थे. वहां बीएसएनएल के मोबाइल फोन्स में नेटवर्क नहीं आ रहा था. इसके बाद हम बीएसएनएल दो अधिकारियों को उनके घर से पुलिस स्टेशन लेकर आए. पोद्दार ने आगे कहा कि दोनों अधिकारियों को तीन घंटे बाद छोड़ दिया गया.''

ये भी पढ़ें- भगवान राम के बाद अब सियासत में फंसे हनुमान, मोदी की सांसद बोलीं- राम ने बजरंगबली को बनाया बंदर

विपक्ष ने सीएम की फासिस्ट सोच की निंदा की

वहीं इस वाक़ये के बाद से सीएम रघुवर दास को विपक्ष ने घेरना शुरू कर दिया है. हालांकि सीएमओ की तरफ से इस घटना की कोई पुष्टि नहीं की गई है. लेकिन विपक्ष ने इस तरह से देर रात बीएसएनएल के अधिकारियों को ठाणे में बिठाये रखने की कड़ी आलोचना करते हुए सीएम की सोच को 'फासिस्ट' करार दिया है. वहीं विपक्ष के साथ-साथ इस घटना के बाद से इलाके के बीएसएनएल कर्मचारियों में काफी रोष है.

First published: 5 December 2018, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी