Home » इंडिया » CM Pinarayi Vijayan comments on kerala beef row
 

केरल बीफ विवाद: 'लोगों के खाने की पसंद को नहीं बदला जाएगा'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(कैच न्यूज)

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने पुलिस मेस में बीफ परोसने के विवाद पर कहा कि राज्य की संस्कृति के अनुसार, लोगों के खाने की पसंद को नहीं बदला जाएगा.

19 मई को केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) की जीत के अगले दिन त्रिशुर की पुलिस एकेडमी में बीफ पार्टी का आयोजन किया गया था.

इसके बाद एकेडमी के आईजी सुरेशराज पुरोहित ने बीफ पार्टी के जांच के आदेश दिए. विवाद तब बढ़ गया जब आईजी ने मेस में बीफ परोसने के मामले में अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की धमकी दे दी. आईजी ने मेस के अधिकारियों तलब करके बीफ परोसने वाले व्यक्तियों का ब्यौरा मांगा है.

बॉम्बे हाईकोर्ट: बीफ बैन सही, लेकिन गोमांस आयात अपराध नहीं

एकेडमी में आईजी का पदभार ग्रहण करने के बाद पुरोहित ने मेस में बीफ परोसने पर पाबंदी लगा दी थी. हालांकि पुलिस एसोसिएशन की ओर से कैंटीन के मैन्यू में बीफ को शामिल करने की शिकायत की जा चुकी है.

इससे पहले भी पिछले साल दिल्ली स्थित केरल हाउस में बीफ परोसने की अफवाह पर दिल्ली पुलिस के 'छापे' से विवाद पैदा हो गया था. इस मामले में राज्य संचालित गेस्ट हाउस की कैंटीन में बीफ परोसे जाने की झूठी शिकायत किए जाने को लेकर हिंदू सेना के प्रमुख विष्णु गुप्ता को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया था.

पिछले साल मार्च महीने में हरियाणा और महाराष्ट्र के गो-हत्या विरोधी कानून कड़े करने पर 'बीफ' का मुद्दा राष्ट्रीय स्तर पर गरमा गया. इसके समर्थन और विरोध पर देशभर में आवाजें उठने लगी. बीजेपी और सरकार पर आरोप लगने लगा कि वे अपनी पसंद को देश पर थोपना चाहते हैं.

इसी दौरान पिछले साल दिल्ली से सटे दादरी इलाके में भीड़ ने ईद के मौके पर बीफ रखने के शक में अखलाक नाम के व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी और उसके बेटे को अधमरा कर दिया. इसके बाद भी बीफ को लेकर लगातार हिंसा की खबरें आती रहीं हैं.

First published: 26 May 2016, 5:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी