Home » इंडिया » Coal Scam: Special court convicts Jharkhand Ispat Pvt Ltd
 

कोयला घोटाले में पहला फैसला आया, दो दोषी करार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2016, 13:27 IST

सीबीआई की एक स्पेशल कोर्ट ने झारखंड इस्पात प्राइवेड लिमिटेड (जेआईपीएल) और इसके दो निदेशकों को कोयला खान आवंटन में हुई अनियमितता के संबंध में दोषी ठहराया है.

सीबीआई के स्पेशल जज भरत पराशर ने कंपनी के दो निदेशकों आरएस रूंगटा और आरसी रूंगटा को भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी (आपराधिक षडयंत्र) और 420 (धोखाधड़ी) का दोषी पाया.

कोर्ट ने आरएस रूंगटा और आरसी रूंगटा को हिरासत में लेने का आदेश दिया. कंपनी और इसके निदेशकों की सजा 31 मार्च को तय की जाएगी. यह मामला झारखंड के उत्तरी धाडू कोल ब्लॉक के आवंटन में हुई अनियमितताओं से जुड़ा है.

कोयला खान आंवटन घोटाले का यह पहला मामला है जिसमें स्पेशल कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है. स्पेशल कोर्ट का गठन कोयला घोटाले के मामलों की सुनवाई के लिए किया गया है.

गौरतलब है कि 2012 में भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने अपनी रिपोर्ट में कोल ब्लॉक्स के आवंटन में एक लाख 86 हजार करोड़ रुपये के घोटाले की बात कही थी. इसे लेकर तत्कालीन मनमोहन सरकार की काफी किरकिरी भी हुई.

उस समय विपक्ष में बैठी बीजेपी ने आरोप लगाया था कि अगर इन कोल ब्लॉक्स की नीलामी की गई होती तो सरकार को ये घाटा नहीं उठाना पड़ता.

First published: 28 March 2016, 13:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी