Home » इंडिया » Complainant against Goa CM’s kin now alleges harassment by industry body
 

गोवा: सीएम के साले के खिलाफ शिकायत पर उत्पीड़न का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2016, 16:35 IST
(फाइल फोटो)

भ्रष्टाचार के मामले में गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर के साले के खिलाफ शिकायत करने वाले शख्स ने आरोप लगाया है कि सरकारी गोवा औद्योगिक विकास निगम (जीआईडीसी) उनको परेशान कर रहा है.

दरअसल राजस्थान के उद्योगपति संजय जालंधरा ने पिछले साल एसीबी (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो) में सीएम पारसेकर के साले दिलीप मालवंकर के खिलाफ शिकायत की थी. जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि एक प्लॉट के लिए दिलीप रिश्वत की मांग कर रहे हैं. दिलीप मालवंकर जीआईडीसी में अधिकारी हैं.

दिलीप मालवंकर के खिलाफ शिकायत

प्रधानमंत्री कार्यालय को इस हफ्ते भेजे एक पत्र में संजय ने कहा है कि जीआईडीसी ने टुएम औद्योगिक एस्टेट में उन्हें आवंटित प्लॉट को सौंपने पर रोक लगा दी है.

साथ ही उन्होंने कहा है कि जीआईडीसी न तो उनके पैसे लौटा रहा है और न ही उन्हें कोई जानकारी दे रहा है. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने मालवंकर को पिछले साल अगस्त में जालंधरा से प्लॉट आवंटन के लिए एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था.

हाल ही में मालवंकर को पद पर बहाल कर दिया गया, जिसको लेकर विवाद खड़ा हो गया था.

प्लॉट के लिए रिश्वत मांगने का आरोप

पीएमओ को भेजे गए पत्र में संजय जालंधरा ने कहा है, "मुझे एसीबी में (मालवंकर के खिलाफ) शिकायत करनी है कि जीआईडीसी प्लॉट देने से किसी न किसी बहाने इनकार कर रहा है. वे चाहते हैं कि मैं उन्हें रिश्वत दूं. हमारे एक पूर्व कर्मचारी ने जीआईडीसी को पांच लाख रुपये तक की रिश्वत दी थी."

वहीं जीआईडीसी के अध्यक्ष गणेश गावकर ने जालंधरा को परेशान करने की बात से साफ तौर पर इनकार किया है.

इस मामले में सफाई देते हुए उन्होंने कहा, "कई बार औपचारिकताएं पूरी करने में लंबा वक्त लग जाता है. हम किसी के प्रति अन्याय नहीं कर रहे हैं न ही किसी को परेशान करना चाहते हैं. मामले को मैंने विस्तार से नहीं देखा है."

First published: 4 July 2016, 16:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी