Home » इंडिया » congress budget session plan
 

इन 5 टकरावों की भेंट चढ़ सकता है संसद का बजट सत्र

निखिल कुमार वर्मा | Updated on: 9 February 2016, 22:21 IST
QUICK PILL
  • पिछले दो सत्रों संसद का सत्र हंगामेदार रहा है. कांग्रेस और बीजेपी संसद नहीं चलने देने के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रही है.
  • बजट सत्र में कांग्रेस अरुणाचल में चल रहे संवैधानिक संकट, जीएसटी बिल, \r\nरोहित वेमुला की आत्महत्या जैसे मुद्दों को प्रमुखता से उठा सकती है.

संसद का बजट सत्र 23 फरवरी से शुरू हो रहा है. पिछले दो सत्रों से विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी दलों के विरोध के कारण संसद नहीं चल रही है.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को उम्मीद है कि इस बार बजट सत्र में संसद में कामकाज हो पाएगा. हालांकि, कई ऐसे मुद्दे है जिनको लेकर संसद में बीजेपी को विरोध का सामना करना पड़ सकता है.

बजट सत्र में कांग्रेस अरुणाचल में चल रहे संवैधानिक संकट, जीएसटी बिल, रोहित वेमुला की आत्महत्या जैसे मुद्दों को प्रमुखता से उठा सकती है. माना जा रहा है कि कांग्रेस संसद में इन मुद्दों पर बीजेपी को घेरने का प्रयास करेगी.

इसके अलावा बीजेपी राज्यसभा में अल्पमत में है जिसके कारण उच्च सदन में कई बिल अटके पड़े हैं. इसमें वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे महत्वपूर्ण बिल भी शामिल हैं.

प्रधानमंत्री का काम सरकार चलाना है, बहाने बनाना नहीं: राहुल गांधी

संसद नहीं चलने देने के लिए कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार करार दिया है. कांग्रेस का कहना है कि संसद चलाना सरकार की जिम्मेदारी है.

वहीं केंद्रीय संसदीय राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस के चलते संसद के पिछले दो सत्रों में 200 करोड़ बर्बाद हुए हैं. कांग्रेस के चलते ही जनता की गाढ़ी कमाई और संसद का समय बर्बाद हो रहा है. जानिए किन मुद्दों पर हो सकता है बीजेपी-कांग्रेस में टकराव:

अरुणाचल संवैधानिक संकट

अरुणाचल में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की विपक्षी दलों ने चौतरफा निंदा की है. उन्होंने मोदी सरकार पर संघीय ढांचे को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है.

इस मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, 'अरुणाचल में राष्ट्रपति शासन को लगाया जाना पूरी तरह से एक चुनी हुई सरकार को बर्खास्त करने की नाजायज कोशिश है.'

पढ़ें: अरुणाचल में राष्ट्रपति शासन से जुड़ी 10 बातें

अब यह मामला बीजेपी के गले की फांस बन गई है. हालांकि, मामला सुप्रीम कोर्ट में है और इस मसले पर संवैधानिक पीठ सुनवाई कर रही है.

जीएसटी बिल पर गतिरोध जारी

राज्यसभा में एनडीए के पास बहुमत न होने और कांग्रेस के विरोध के कारण जीएसटी बिल अटका हुआ है. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने उम्मीद जताई कि संसद के आगामी सत्र में कांग्रेस जीएसटी बिल को पारित कराने में सहयोग करेगी. जीएसटी बिल लोक सभा से पारित हो चुका है.

सरकार 3 बातें मान ले, जीएसटी 15 मिनट में पास हो जाएगा: राहुल गांधी

दूसरी ओर पिछले महीने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि जीएसटी बिल राज्यसभा में 15 मिनट में पास हो सकता है. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस ने जीएसटी के संबंध में जो परिवर्तन सुझाए हैं उन्हें केंद्र सरकार मान ले तो उनकी पार्टी राज्यसभा में 15 मिनट के अंदर इसे पास कर देगी.

कांग्रेस पार्टी देश की जनता से अपनी हार का बदला ले रही है: पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि कांग्रेस जीएसटी में टैक्स पर कैप चाहती है. जीएसटी पर तीन मुद्दे ऐसे हैं, जिन पर पार्टी का नजरिया मोदी सरकार से अलग है.

गांधी परिवार पर पीएम का निशाना

संसद नहीं चलने देने के लिए कुछ दिनों पहले ही पीएम मोदी ने गांधी परिवार को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने आरोप लगाया कि गांधी परिवार लोकसभा चुनाव में अपनी हार का बदला ले रहा है.

संसद नहीं चलने के लिए 'गांधी परिवार' जिम्मेदार: पीएम मोदी

पीएम मोदी के अनुसार, 'एक परिवार ने यह तय कर लिया है कि राज्यसभा नहीं चलने देना है और देश का कोई काम नहीं होने देंगे. वे देश की जनता से अपनी हार का बदला लेना चाहते हैं.'

आनंदीबेन पटेल की बेटी अब बीजेपी के लिए राबर्ट वाड्रा बन सकती हैं

कांग्रेस इस मुद्दे को संसद में उठा सकती है. अक्सर गांधी परिवार पर किसी भी राजनीतिक हमले का कांग्रेस पार्टी सड़क से संसद तक पुरजोर विरोध करती रही है. इसका संकेत खुद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी दे चुके हैं.

पीएम मोदी की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि प्रधानमंत्री का काम सरकार चलाना है, बहाने बनाना नहीं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी वादा पूरा करने में सक्षम नहीं होने पर पिछले डेढ़ सालों से बहाने बना रहे हैं.

अनार पटेल भूमि विवाद

गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल का परिवार बीजेपी के गले की हड्डी बन रहा है. जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे उस समय आनंदीबेन वहां की राजस्व मंत्री थी. आनंदीबेन के राजस्व मंत्री रहते उनकी बेटी अनार पटेल को सरकारी जमीन कौड़ियों के मोल देने का आरोप लगा हुआ है.

Exclusive: अच्छे दिन आनंदीबेन के बेटे के, घाटे में पड़ी कंपनी के शेयरों में 850% की उछाल

सियासी हलकों में माना जा रहा है कि आनंदीबेन पटेल की बेटी अब बीजेपी के लिए राबर्ट वाड्रा बन सकती हैं. कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट की निगरानी वाली एक एसआईटी के गठन की मांग की.

कांग्रेस के सीनियर लीडर आनंद शर्मा ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट की निगरानी वाली एसआईटी जांच के दायरे में सरकारी जमीनों के ऐसे सभी आवंटन होने चाहिए जो आनंदीबेन पटेल के राजस्व मंत्री और मोदी के मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए किए गए हैं.'

रोहित वेमुला आत्महत्या

रोहित वेमुला ने हैदराबाद विश्वविद्यालय से निष्कासित किए जाने के बाद खुदकुशी कर ली थी. उनके निष्कासन में केंद्रीय श्रम राज्य मंत्री बंडारू दत्तात्रेय की भूमिका संदिग्ध है. इस मामले में एससी-एसटी एक्ट के तहत उन पर पुलिस ने केस भी दर्ज किया है.

पढ़ें: रोहित वेमुला मामले को भाजपा न तो उगल सकती है न निगल सकती है

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी इस मामले को जोर-शोर से उठा रहे हैं. वह हैदराबाद युनिवर्सिटी का दौरा भी कर चुके हैं. माना जा रहा है कि दलितों के साथ हो रहे भेदभाव का मुद्दा उठाते हुए कांग्रेस पार्टी संसद में इस मुद्दे को जोरशोर से उठाएगी.

इसके अलावा क्रिसमस के मौके पर पीएम मोदी के पाकिस्तान दौरे और पठानकोट आतंकी हमले में भी कांग्रेस से सरकार से जवाब मांगेगी.

First published: 9 February 2016, 22:21 IST
 
निखिल कुमार वर्मा @nikhilbhusan

निखिल बिहार के कटिहार जिले के रहने वाले हैं. राजनीति और खेल पत्रकारिता की गहरी समझ रखते हैं. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से हिंदी में ग्रेजुएट और आईआईएमसी दिल्ली से पत्रकारिता में पीजी डिप्लोमा हैं. हिंदी पट्टी के जनआंदोलनों से भी जुड़े रहे हैं. मनमौजी और घुमक्कड़ स्वभाव के निखिल बेहतरीन खाना बनाने के भी शौकीन हैं.

पिछली कहानी
अगली कहानी