Home » इंडिया » Congress calls Savarkar traitor
 

भगत सिंह और वीर सावरकर के बीच कांग्रेस ने छेड़ा ट्विटर युद्ध

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2016, 18:06 IST

शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के शहादत दिवस पर कांग्रेस पार्टी ने इनसे वीर सावरकर की तुलना करते हुए सावरकर को देशद्रोही करार दिया है.

बुधवार को सोशल मीडिया ट्विटर पर कांग्रेस ने तीन ट्वीट किए. इसमें भगत सिंह को 'शहीद' जबकि सावरकर को 'देशद्रोही' करार दिया गया है.

एक ट्वीट के अनुसार भगत सिंह ने साल 1931 में लाहौर जेल से लिखी गई अंतिम अर्जी में कहा, 'ब्रिटिश राष्ट्र व भारत राष्ट्र के बीच वर्तमान में युद्ध जैसे हालात हैं और चूंकि हमने इस युद्ध में हिस्सा लिया, इसलिए हम युद्धबंदी हैं.'

bhagatsingh2.jpg

इसी ट्वीट में सावरकर की एक अर्जी का भी जिक्र किया है. इसके मुताबिक, यह अर्जी सावरकर ने साल 1913 में अंडमान स्थित सेल्यूलर जेल से भेजी थी. अर्जी में सावरकर ने कहा, 'यदि सरकार मुझपर एहसान करती है और दया कर मुझे रिहा करती है, तो मैं ब्रिटिश हुकूमत के प्रति आजीवन श्रद्धा रखूंगा.

bhagatsingh1.jpg

कांग्रेस ने एक अन्य ट्वीट में कहा, भगत सिंह ने ब्रिटिश राज्य से आजादी के लिए युद्ध छेड़ा जबकि वीडी सावरकर ने ब्रिटिश राज्य में गुलाम रहने के लिए दया की विनती की.

bhagatsingh.jpg

कांग्रेस ने तीसरे ट्वीट में कहा, भगत सिंह ने ब्रिटिश राज से कहा कि उन्हें फांसी पर चढ़ा दिया जाए जबकि बीजेपी-आरएसएस विचारक सावरकर ने अपनी रिहाई के लिए याचना की.

ब्रिटिश सरकार ने 23 मार्च, 1931 को भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी दे दी थी. भारत में यह दिन शहीदी दिवस के तौर पर मनाया जाता है.

First published: 23 March 2016, 18:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी