Home » इंडिया » congress demands crores of rupees for tickets, says congress leader P Sudhakar Reddy in his resignation letter to rahul gandhi
 

कांग्रेस के इस दिग्गज नेता का इस्तीफा, पार्टी को बड़ा झटका, अपनी ही पार्टी पर लगाया टिकट बेचने का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2019, 18:13 IST

लोकसभा चुनाव के लिए लगभग सभी पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. चुनाव में अब चंद दिन बचे हैं इसके साथ ही देश का राजनीतिक पारा चढ़ता जा रहा है. अब कांग्रेस के एक बड़े नेता ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को चिट्ठी लिखकर टिकट के बदले करोड़ों रुपये मांगने का सनसनीखेज आरोप लगाया है. अपनी ही पार्टी पर टिकट के बदले करोड़ों रुपये की मांग का आरोप लगाते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) के सदस्य और पूर्व सेक्रेटरी पी. सुधाकर रेड्डी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफा देने से पहले रेड्डी ने राहुल गांधी को इस बारे में एक खत भी लिखा था. रेड्डी को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में कांग्रेस का दिग्गज नेता माना जाता है, उनका प्रभाव राज्य भर में एक खास समुदाय के बीच है. कांग्रेस के लिए निश्चित रूप से इसे बड़ा झटका कहा जा रहा है.

कांग्रेस अध्यक्ष को लिखे खत में सुधाकर रेड्डी ने कहा, ''दुर्भाग्य से कांग्रेस पार्टी की परंपरा और मूल्य पार्टी सिद्धांतों के विपरीत हो गए हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव, 2018 के तेलंगाना विधानसभा चुनाव और एमएलसी चुनावों में टिकट के बंटवारे में पैसों का प्रभाव काफी बढ़ गया है.''

रेड्डी ने राज्य के स्टेट लीडरशीप की नाकामी के लिए कथित भ्रष्टाचार को जिम्मेदार बताते हुए कहा ''यह जानकर काफी ठेस पहुंचती है कि पार्टी के टिकट के लिए करोड़ों रुपये मांगी जा रही है. पार्टी में टिकट बंटवारे के इस हद तक व्यवसायीकरण ने मुझे पार्टी छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया है.''

इसके साथ ही रेड्डी ने अपने खत में यह भी उल्लेख किया है कि उन्होंने इसे पार्टी नेतृत्व के संज्ञान में लाने की कोशिश की, लेकिन ये नाकाम रहीं. उन्होंने आगे कहा, 'मैंने जमीनी हकीकत को पार्टी हाई कमान तक पहुंचाने का हर संभव प्रयास किया लेकिन बिचौलियों ने शीर्ष नेतृत्व तक यह बात नहीं पहुंचने नहीं दी. पार्टी के बड़े नेताओं का रुख आतंकवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे अहम् मुद्दों पर पर अस्थिर रहा है. इससे पार्टी और उसके नेताओं की छवि खराब हुई है. कांग्रेस पार्टी देशवासियों की भावनाओं को समझने में नाकाम रही है, मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी में बिचौलियों और गैरजिम्मेदार लोगों के साथ काम करना जारी रखना उचित नहीं है.''

First published: 31 March 2019, 18:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी