Home » इंडिया » Congress: Don't just love Kashmir for its beauty, love Kashmir for its people,love the children and ppl who lost their eyes
 

राज्यसभा में कश्मीर पर चर्चा: आजाद बोले, वादियों के साथ वहां के लोगों से भी प्यार करें

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2016, 12:36 IST
(राज्यसभा टीवी)

राज्यसभा में कश्मीर पर चर्चा के दौरान नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कश्मीर को केवल वादियों के लिए मत प्यार कीजिए, वहां के लोगों से भी प्यार कीजिए.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा, "मैं विपक्ष की तरफ से गृह मंत्री राजनाथ सिंह का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं कि उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर आज संसद में चर्चा की इजाजत दी." 

गुलाम नबी आजाद ने कहा, "कश्मीर को सिर्फ उसकी खूबसूरती के लिए प्यार मत कीजिए, कश्मीर को उसके लोगों के लिए प्यार कीजिए, उन बच्चों और लोगों से मोहब्बत कीजिए, जिन्होंने प्रदर्शन के दौरान अपने आंखों की रोशनी खोे दी है." 

कांग्रेस नेता आजाद के इस बयान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान का जवाब माना जा रहा है, जिसमें उन्होंने कहा था कश्मीर से देश का हर नागरिक प्यार करता है.

वहीं राज्यसभा में नेता विपक्ष अरुण जेटली ने कहा कि जम्मू-कश्मीर आज एक संवेदनशील दौर से गुजर रहा है और हम सभी को एक सुर में बोलने की जरूरत है. एक नजर गुलाम नबी आजाद के पूरे संबोधन पर:

कश्मीर पर आजाद का दर्द

  • मैं विपक्ष की तरफ से गृह मंत्री राजनाथ सिंह का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं.
  • गृह मंत्री ने कश्मीर मुद्दे पर आज संसद में चर्चा की इजाजत दी इसके लिए धन्यवाद.
  • कश्मीर को सिर्फ उसकी खूबसूरती के लिए प्यार मत कीजिए.
  • उसकी पहाड़ियों और हवा के लिए नहीं उसके लोगों के लिए प्यार कीजिए.
  • उन बच्चों और लोगों से मोहब्बत कीजिए, जिन्होंने अपने आंखों की रोशनी खोे दी है. 
  • हमने दलितों के मुद्दे पर पीएम का कोई बयान संसद में नहीं सुना.
  • क्या प्रधानमंत्री सदन को टिप्पणी के लिए तुच्छ समझते हैं.
  • संसद सत्र के बावजूद हम तेलंगाना से इस मुद्दे पर उनकी टिप्पणी सुनते हैं. 
  • अफ्रीका में कुछ होता है तो पीएम मोदी ट्वीट कर देते हैं.
  • हमने लगातार मांग की है कि पीएम को संसद में बयान देना चाहिए.
  • कश्मीर और दलितों के मुद्दे पर उन्हें संसद में आकर बोलना चाहिए.
  • आतंकी आतंकी होता है चाहे वो कश्मीर का हो या पंजाब का.
  • जम्मू-कश्मीर में हर कोई आतंकवाद का शिकार है.
  • इसके चलते हमने अपने बहुत से करीबी और प्रिय लोगों को खोया है.
  • सांप्रदायिकता और अलगाववाद में अंतर है.
  • कानून-व्यवस्था केवल कश्मीर पुलिस की जिम्मेदारी नहीं है.
  • कश्मीर में तैनात अर्धसैनिक बल भी इसके लिए जिम्मेदार हैं. 
  • आप जम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग कहते हैं.
  • लेकिन वहां के लोगों के दिलों को जोड़ने की जरूरत है.
  • भारत के लोगों और जम्मू-कश्मीर के लोगों के दिलों को जोड़ने की दरकार है. 
  • केंद्र और राज्य सरकार के बीच जुड़ाव की जरूरत है, जो नहीं दिख रहा है.
  • पीएम ने कश्मीर पर जो कहा वो मध्य प्रदेश से नहीं संसद से आना चाहिए.
  • जम्मू-कश्मीर में कर्फ्यू है, बहुत सारे लोग जख्मी हुए हैं.
  • पिछले एक महीने में कश्मीर के नागरिकों का बहुत नुकसान हुआ है.
  • इस समय संसद चल रही है, हम सभी को उनका दर्द साझा करने की जरूरत है.
  • जम्मू-कश्मीर में सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल भेजा जाना चाहिए.
  • इसी संसद सत्र के दौरान इसका एलान होना चाहिए.

पीएम के बयान पर निशाना

राज्यसभा में कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री मोदी को चौतरफा घेरा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री संसद में बने अपने ऑफिस में सुबह 10 बजे आ जाते हैं और शाम को 6 बजे तक रहते हैं, लेकिन सदन में अहम मुद्दों पर चर्चा में शामिल नहीं होते.

इससे पहले मध्य प्रदेश के अलीराजपुर के भाबरा में पीएम मोदी ने कश्मीर में एक महीने से चल रहे संकट पर टिप्पणी की थी. आजाद ने कहा कि पीएम संसद सत्र चलने के बावजूद कश्मीर के गंभीर मसले पर एमपी से बयान देते हैं, जबकि उन्हें यह संसद में करना चाहिए.

चंद्रशेखर आजाद की जन्मस्थली भाबरा में आजादी की सालगिरह से जुड़े एक कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने मंगलवार को कश्मीर मुद्दे पर कई टिप्पणियां की. एक नजर उनके बयान के अहम हिस्सों पर:

'लैपटॉप की जगह पत्थर पकड़ाए'

1. कश्‍मीर देशवासियों के लिए स्‍वर्गभूमि की तरह है.

2. मुठ्ठी भर गुमराह हुए लोग कश्‍मीर की परंपरा को ठेस पहुंचा रहे हैं.

3. हम कश्‍मीर को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते हैं.

4. जो आजादी बाकी हिंदुस्‍तानियों की है, वो कश्‍मीर की भी है.

5. हम कश्‍मीर के युवाओं को रोजगार देना चाहते हैं.

6. कश्‍मीर को मुख्‍यधारा में लाना चाहते हैं. कश्‍मीर हमारा अभिन्‍न हिस्‍सा है.

7. मैं कश्‍मीर के युवकों का आह्वान करता हूं. आइए हम मिलकर कश्‍मीर को दुनिया का स्‍वर्ग बनाएं.

8. हर भारतीय कश्‍मीर आना चाहता है और हर भारतीय उसे चाहता है.

9. कश्‍मीर के नौजवानों को पत्‍थर पकड़ा दिए गए हैं.

10. जिनके हाथ में किताबें होनी चाहिए, उन्‍हें पत्‍थर दे दिए गए हैं.

11. जिनके हाथों में लैपटॉप होने चाहिए, उन्हें पत्थर दे दिए गए हैं.

12. कंधों से बंदूक हटा दोगे, तो ये लाल धरती हरी हो जाएगी.

13. जम्मू-कश्‍मीर की जनता शांति चाहती है.

14. हमारी सरकार कश्‍मीर को हरसंभव मदद देने को तैयार है.

भाबरा में पीएम मोदी ने कहा कि कश्मीर से हर भारतीय प्यार करता है वहां जाना चाहता है. (ट्विटर)
First published: 10 August 2016, 12:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी