Home » इंडिया » Congress leader Sanjay Nirupam calls Indian Army's surgical strikes fake
 

कांग्रेस के नेता संजय निरुपम ने सर्जिकल स्ट्राइक को बताया फर्जी

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 October 2016, 18:29 IST
(ट्विटर)

नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार भारतीय सेना के सैन्य ऑपरेशन को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने भी सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर गंभीर सवाल उठाए हैं. 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी लेकिन उन्होंने ऐसा करते हुए यह कहने में देर नहीं लगाई कि मीडिया इस स्ट्राइक को लेकर कुछ सवाल उठा रहा है और इसका जवाब सबूतों के साथ दिया जाना चाहिए.

अरविंद केजरीवाल के इस बयान के बाद पाकिस्तानी अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने यह लिखा, 'दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान में भारत के सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर उठाए सवाल.' पाकिस्तानी अखबार में केजरीवाल के हवाले से सर्जिकल स्ट्र्राइक  को लेकर उठे सवाल के बाद भारत में उनकी आलोचना शुरू हो गई थी.

अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने ट्वीट करते हुए कहा, 'हर हिंदुस्तानी चाहता है कि पाकिस्तान के खिलाफ स्ट्राइक हो लेकिन यह भाजपा के राजनीतिक फायदे के लिए फर्जी वाला नहीं होना चाहिए. देश के हितों पर राजनीति.' 

निरूपम ने अपनी ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की तस्वीरें भी लगाई हैं. बयान के बाद निरूपम की सोशल मीडिया  में निशाने पर आ गए हैं.

कांग्रेस के एक अन्य नेता संजय झा ने भी ट्वीट करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा, 'यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान देश में पहले भी कई बार पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक हुए हैं लेकिन हमने कभी भी सेना की सफलता का राजनीतिक लाभ नहीं लिया.'

झा ने कहा, 'पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर में आतंकी शिविरों की संख्या जुलाई 2012 में 62 थी जो मई 2014 में कम होकर 40 हो गई. लेकिन इस दौरान कोई हल्ला हंगामा या प्रचार नहीं हुआ. बस कार्रवाई की गई.'

इससे पहले केजरीवाल ने कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाकिस्तान बौखला गया है. वह अंतरराष्ट्रीय पत्रकारों को सीमा पर ले गया है. पाकिस्तान यह दिखाने की कोशिश कर रहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक तो हुई ही नहीं. इसलिए इसे झूठ  साबित करने के लिए सबूत दिए जाएं.

अरविंद केजरीवाल के बयान के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह केजरीवाल से पूछना चाहते हैं कि क्या उन्हें सर्जिकल स्ट्राइक करने वाली सेना की असाधारणता वीरता पर भरोसा है या नहीं? अगर ऐसा है तो फिर आप पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा का शिकार क्यों हो रहे हैं?

प्रसाद ने कहा कि केजरीवाल का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्हें यह समझना चाहिए कि राजनीति अपनी जगह है और देश अपनी जगह है. उन्होंने वीडियो पर जो सवाल उठाए हैं वह सेना पर उठाए गए हैं.

First published: 4 October 2016, 18:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी