Home » इंडिया » congress led Opposition to observe first demonetisation anniversary on November 8 as ‘Black Day
 

नोटबंदी की बरसी पर विपक्ष ने 'काला दिवस' मनाने का किया एलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 October 2017, 16:41 IST

नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने मोदी सरकार को घेरने की तैयारियां कर ली हैं. विपक्षी दलों ने मंगलवार को कहा कि वे एक साल पहले मोदी सरकार द्वारा लिए गए नोटबंदी के फैसले के विरोध में 8 नवंबर को काले दिन के रूप में मनाएंगे.

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने संवाददाताओं को बताया कि सभी विपक्षी दल एक संयुक्त रणनीति के तहत 8 नवंबर 2016 को लिए गए नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विरोध दर्ज करेंगे.

आजाद ने याद दिलाया कि सरकार ने पिछले साल नोटबंदी करने के बाद किस तरह बार-बार नियमों में बदलाव किए.
उन्होंने कहा, "नोटबंदी सरकार का एक गलत ढंग से और जल्दबाजी में लिया गया फैसला था. यह शायद पूरी दुनिया में अभूतपूर्व है कि किसी सरकार को एक माह में 135 बार अपनी नीति में बदलाव करना पड़ा."

विपक्षी दलों द्वारा 8 नवंबर को काले दिन के रूप में मनाने का फैसला सोमवार को एक समन्वय बैठक में लिया गया, जिसमें जदयू के बागी नेता शरद यादव, माकपा सांसद डी राजा, डीएमके सांसद कनिमोझी, बसपा के सतीश मिश्रा और तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन मौजूद थे. आजाद ने स्पष्ट किया कि 8 नवंबर को कांग्रेस की अगुवाई में 18 विपक्षी दल अपने अपने क्षेत्रों में अपने कार्यक्रमों और योजना के अनुसार नोटबंदी के फैसले का विरोध करेंगे.

गौरतलब है कि पिछले साल 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंंद्र मोदी ने 1000 रुपये और 500 रुपये के नोटों को प्रचलन से बंद किए जाने की घोषणा की थी. इसके बाद लगातार वो अपने इस फैसले को लेकर विपक्ष के निशाने पर रहे हैं.

First published: 24 October 2017, 16:41 IST
 
अगली कहानी