Home » इंडिया » congress man demand varun gandhi nice man, invite to join congress
 

यूपी कांग्रेस से उठी वरुण गांधी को पार्टी में लाने की मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(पीटीआई)

उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के भीतर मुख्यमंत्री पद के चेहरे को लेकर गहन चर्चा चल रही है. संभावितों की दौड़ में दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का नाम सबसे आगे चल रहा है.

वहीं कांग्रेस कार्यकर्ता लंबे समय से प्रियंका गांधी को प्रदेश की कमान देने की मांग कर रहे हैं. यूपी के कांग्रेस के नवनियुक्त प्रभारी गुलाम नबी आजाद भी ऐसी मांग कर चुके हैं.

लेकिन गुरुवार को सूबे में कांग्रेस के एक वरिष्‍ठ नेता ने बीजेपी सांसद वरुण गांधी को कांग्रेस में लाने की मांग रखकर पार्टी के लिए असहज स्थिति खड़ी कर दी.

यूपी कांग्रेस महासचिव ने की तारीफ 

उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव उमेश पंडित ने बीजेपी के सुल्तानपुर से सांसद वरुण गांधी की जमकर तारीफ करते हुए उन्‍हें कांग्रेस में लाने की पुरजोर वकालत भी की.

यूपीसीसी के महासचिव उमेश पंडित ने लखनऊ में कहा, "वरुण गांधी जी एक अच्‍छे आदमी हैं, जो गलत पार्टी में फंसे हुए हैं."

'गलत पार्टी में भले आदमी'

उमेश पंडित ने कहा, "न तो वरुण गांधी और न ही उनके पिता संजय गांधी सांप्रदायिक ताकतों में विश्‍वास करते थे. वरुण नेहरू-गांधी परिवार के सदस्‍य हैं और यूपी में कांग्रेस की सांप्रदायिक ताकतों से लड़ाई में मदद कर सकते हैं."

पंडित के बयान पर जब गुलाम नबी आजाद से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्‍होंने कहा कि उमेश पंडित का विचार पूरी तरह से व्यक्तिगत है, इसका पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है.

आजाद के बयान के बाद उमेश पंडित ने अंग्रेजी अखबार 'इंडियन एक्‍सप्रेस' से कहा, "मेरा कहना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस मुक्‍त भारत की बात करते हैं और भाजपा नेता नेहरू-गांधी परिवार के निशानों को हटाने की बात करती है. 

'साथ आएं राहुल-वरुण'

लेकिन नेहरू-गांधी परिवार का सबसे बड़ा निशान (वरुण) उनके पास है. अब समय है कि वे कांग्रेस में आ जाएं और दोनों भाई (राहुल-वरुण) मिलकर देश को बचाने के लिए कांग्रेस को मजबूत करें."

वहीं पंडित के बयान पर यूपी बीजेपी अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, "ऐसा लगता है कि कांग्रेस के पास नेताओं की कमी हो गई है. हम यूपी में अगली सरकार बनाने जा रहे हैं."

बीजेपी आलाकमान से नाराजगी!

गौरतलब है कि सांसद वरुण गांधी हाल ही में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की बुलाई गई यूपी बीजेपी सांसदों की बैठक से नदारद रहे थे. इसके बाद डिनर पार्टी में भी वो गैरहाजिर थे.

इलाहाबाद में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक के दौरान भी पूरे शहर में वरुण गांधी के बड़े-बड़े पोस्‍टर लगाए गए थे. इन पोस्टर्स में वरुण को सीएम पद का उम्‍मीदवार बताया गया था.

इस मामले में बीजेपी आलाकमान ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए परोक्ष तौर पर चेतावनी दी थी कि कोई भी अपनी लक्ष्मण रेखा न पार करे.

First published: 17 June 2016, 1:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी