Home » इंडिया » congress president rahul gandhi strategy for karnataka election, will visit religious places like gujrat election campaign soft hindutva tem
 

गुजरात फॉर्मूले को कर्नाटक में भी अपनाएंगे राहुल गांधी, करेंगे ऐसा कि जीतेगी कांग्रेस!

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 February 2018, 11:05 IST

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं इसके लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. भाजपा जहां एक बार फिर अपने करिश्माई नेता प्रधानमंत्री मोदी के भरोसे कर्नाटक का चुनाव जीतना चाहती है वहीं कांग्रेस पार्टी गुजरात चुनाव की तरह अपने अध्यक्ष राहुल गांधी की तेज-तर्रार नीति के तहत सत्ता वापसी चाहती है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अपनी पार्टी को जीत दिलाने के लिए रणनीति बना ली है.

खबर है कि गुजरात विधानसभा चुनाव की तर्ज पर कर्नाटक में भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंदिर-मस्जिद का चक्कर लगाते नजर आएंगे. कर्नाटक में विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में पार्टी के प्रचार अभियान के लिए राहुल खुद आने वाले हैं. 10 दिन की राहुल की कर्नाटक यात्रा की योजना में कई मंदिरों में दर्शन-पूजन भी शामिल है.

कर्नाटक के अपने चार दिवसीय दौरे की शुरुआत राहुल गांधी 10 फरवरी को हैदराबाद-कर्नाटक छेत्र के कोप्पल से करेंगे. कोप्पल में एक जनसभा के बाद राहुल गांधी हुलीगेम्मा मंदिर में पूजा के लिए जाएंगे और फिर लिंगायतों के प्रसिद्ध गवि सिध्देश्वर मठ का दर्शन करेंगे. हुलीगेम्मा दुर्गा मां का मन्दिर है, तो वहीं गवि सिध्देश्वर मठ से होते हुए रास्ता पहाड़ी पर बने में शिव मंदिर को जाता है, यहां लाखों की तादाद में श्रद्धालु आते हैं.

यह दोनों ही जगह लिंगायत जाति के लोगों के लिए अहम है. लिंगायत के अलावा इस इलाके में कुरुबा और मुस्लिम लोग भी बहुतायत में हैं. कुरुबा और मुस्लिम पर कांग्रेस की अच्छी पकड़ है. दरअसल कर्नाटक के वर्तमान मुख्यमंत्री सिद्धारमैय्या ने लिंगायतों को अलग धर्म की मान्यता दी है. इसके माध्यम से वह बीजेपी के इस वोट बैंक में भी सेंध लगाने की उम्मीद रखे हुए हैं.

सिद्धारमैय्या को उम्मीद है कि अगर लिंगायतों का वोट हासिल करने में वो कामयाब हो गए, तो हैदराबाद-कर्नाटक के साथ-साथ उत्तर कर्नाटक में भी कांग्रेस को फायदा होगा.

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा ने राहुल गांधी के मठ मन्दिर जाने पर चुटकी लेते हुए कहा, "अब कांग्रेस को हिंदुत्व की अहमियत का एहसास हुआ है, लेकिन उनकी इस कवायद से उन्हें कोई फायदा नहीं होगा, लोग सब जानते हैं." वहीं, कर्नाटक विधान सभा मे विपक्ष के नेता जगदीश शेट्टार ने कहा, "राहुल गांधी ने गुजरात में देवालयों के दर्शन किये, लेकिन हमारी बीजेपी को ही बहुमत मिला."

First published: 8 February 2018, 11:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी