Home » इंडिया » congress rss and bjp lobbying for rajan issue
 

कांग्रेस: रघुराम राजन को हटाने के लिए बीजेपी और आरएसएस ने की लॉबिंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2016, 15:15 IST
(पीटीआई)
QUICK PILL

रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन के संभावित दूसरे कार्यकाल से इनकार के बाद इस मुद्दे पर राजनीति तेज होती जा रही है.

दूसरे कार्यकाल के संभावित चयन के लिए राजन द्वारा मना किए जाने के बाद उनके प्रबल विरोधी बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने जहां खुशी जताई है, वहीं विपक्षी दल कांग्रेस ने राजन की विदाई को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और बीजेपी पर आरोप लगाया है.

कांग्रेस ने इस मामले में कहा है कि संघ के साथ बीजेपी के कुछ मंत्रियों ने रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन के खिलाफ लॉबिंग की. जिसकी वजह से आहत राजन ने दूसरा कार्यकाल नहीं लेने का फैसला किया.

वीरप्पा मोइली ने उठाए सवाल

इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने कहा कि वर्तमान मोदी सरकार राजन के स्तर के किसी व्यक्ति की हकदार नहीं है.

मोइली ने कहा, "मुझे कारण नहीं पता. जाहिर तौर पर यह तो सरकार को ही पता होगा. लेकिन यह तो तय है कि बीजेपी के कुछ प्रवक्ताओं, वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण, सुब्रह्मण्यम स्वामी ने संघ के साथ मिलकर राजन के खिलाफ लॉबिंग की."

मोइली ने कहा, "वर्तमान सरकार और शासन के वर्तमान संदर्भ को देखने से मुझे लगता है कि वे उनके स्तर के व्यक्ति के हकदार नहीं है. वह वैश्विक व्यक्ति हैं. मुझे लगता है कि देश उनके साथ पूर्ण होता."

'राजन ने सही फैसला लिया'

वहीं दूसरी ओर राजन के मसले पर प्रतिक्रिया देते हुए राजद प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि लोग आरबीआई गवर्नर द्वारा किए गए उपायों के साथ बहुत सुरक्षित महसूस कर रहे थे.

झा ने कहा, "पिछले कुछ दिनों में, कुछ खास मंशा के साथ जिस तरह बातें की गईं, वह उनके काम करने के तरीके में कभी नहीं था. मुझे लगता है कि अगर कोई नैतिकता वाला व्यक्ति है, कोई अपने मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध है, तो आप उससे और क्या उम्मीद करते हैं."

राजद प्रवक्ता ने कहा कि रघुराम राजन ने सही फैसला किया, क्योंकि दूसरा कार्यकाल लेने पर उन्हें स्वामी जैसे लोगों के साथ काम करना पड़ता.

सितंबर तक राजन का कार्यकाल

गौरतलब है कि पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा था कि वह राजन के द्वारा दूसरा कार्यकाल नहीं लेने के फैसले से निराश और बहुत दुखी हैं.

रघुराम राजन को 2013 में मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार ने आरबीआई के गवर्नर के पद पर नियुक्त किया था, उस समय पी चिदंबरम देश के वित्त मंत्री थे. सितंबर में उनका कार्यकाल खत्म हो रहा है.

First published: 20 June 2016, 15:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी