Home » इंडिया » Congress says PM Modi are lier Party is against of Triple Talaq
 

कांग्रेस का PM पर हमला- मोदी जी बोलते हैं झूठ, तीन तलाक के खिलाफ है कांग्रेस

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2018, 15:25 IST

कांग्रेस पार्टी ने पीेएम मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए हमला बोला है. कांग्रेस पार्टी का वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने पीएम को संकुचित विचारधारा का बताते हुए कहा कि हमारे देश के पीएम को शोभा नहीं देता कि वह एक राष्ट्रीय पार्टी पर मुस्लिमों की पार्टी होने की बात कहें. 

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी झूठ बोलने की अपनी आदत त्याग दें और ऐसा बिलकुल न कहें कि देश में सबकुछ भाजपा के आने के बाद ही हुआ है. यह सब उनके पद के लिए शोभा नहीं देता. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश की आजादी में योगदान दिया है. पीएम को इतिहास का कम ज्ञान है.

आनंद शर्मा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री को न जमीन का ज्ञान है न इतिहास का. उनको ऐसा लगता है कि देश के सारे लोग अनपढ़ हैं. पीएम मोदी को देश से माफी मांगनी चाहिए. उन्हें देश में हो रहे अत्याचार पर बात करनी चाहिए. मां-बहनों के साथ बढ़ती हिंसा पर बात करनी चाहिए. लेकिन वह लोगों को गुमराह करने का काम कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के अध्यक्ष महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, लाला लाजपत राय, मौलाना आजाद जैसे लोग रहे हों. उस पार्टी के बारे में अनर्गल बातें करना इस देश के प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता. उन्हें अपने ऑफिस में कांग्रेस अध्यक्षों की एक लिस्ट रखनी चाहिए. शायद इस कारण वह अपनी झूठ बोलने की आदत को बदल पाएं.

बता दें कि पीएम मोदी अपने दो दिवसीय पूर्वांचल दौरे पर थे. वहां एक दिन पहले उन्होंने आजमगढ़ में रैली को संबोधित करते हुए कांंग्रेस पार्टी पर मुस्लिमों की पार्टी होने का आरोप लगाया था. प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कांग्रेस को मुस्लिमों की पार्टी कहने के उनके बयान से उन्हें आश्र्चर्य नहीं हुआ था.

पढ़ें- PM मोदी ने दिए आंकड़े- पिछले 2 साल में 5 करोड़ लोग हुए गरीबी से मुक्त

रैली में उन्होंने कहा था, "मैं कांग्रेस पार्टी के नामदार से पूछना चाहता हूं कि कांग्रेस पार्टी मुस्लिमों की पार्टी है, आपको ठीक लगे, आपको मुबारक़ लेकिन ये तो बताइये कि मुसलमानों की पार्टी सिर्फ पुरुषों की है या महिलाओं की भी है. क्या मुस्लिम महिलाओं की इज्ज़त के लिए, सम्मान के लिए, गौरव के लिए, उनके हक़ के लिए कोई जगह है क्या?"

First published: 15 July 2018, 15:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी