Home » इंडिया » controversial poster on keshav prasad maurya new bjp state chief
 

बीजेपी का विवादित पोस्टर, 'केशव' बचाएंगे यूपी की इज्जत

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

यूपी बीजेपी के नवनियुक्त अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या के लिए बीजेपी नेता के एक पोस्टर ने नया विवाद खड़ा कर दिया है. पोस्टर में केशव प्रसाद मौर्या को कृष्ण बताया गया है और उत्तर प्रदेश को द्रौपदी के रूप में दिखाया गया है.

पोस्टर में बसपा प्रमुख मायावती, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव, सपा सरकार में मंत्री आजम खां और एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी को उत्तर प्रदेश रूपी द्रौपदी का चीरहरण करते दिखाया गया है.

पोस्टर में यूपी बीजेपी के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या यूपी रूपी द्रौपदी की रक्षा के लिए हाथ में सुदर्शन चक्र लेकर मुस्कुराते नजर आ रहे हैं.

वहीं पोस्टर के ऊपरी हिस्से में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की तस्वीर भी है. पोस्टर में संस्कृत भाषा में लिखा है- रक्षमाम् केशवः. जबकि नीचे लिखा हुआ है कि कलियुग में केशव केवल उपदेश नहीं देते रणभूमि में युद्ध करते हैं.

पढ़ें:केशव प्रसाद मौर्य यूपी बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष

विवादित पोस्टर पर विपक्ष का वार

उत्तर प्रदेश में इस विवादित पोस्टर को छपवाने वाले बीजेपी नेता रूपेश पांडेय भी गंभीर मुद्रा में अपनी मौजूदगी दर्ज करा रहे हैं. पोस्टर के सामने आने के बाद विपक्ष ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा.

इस मामले में समाजवादी पार्टी के नेता सीपी राय का कहना है कि जो पार्टी हिंदुओं का ठेकेदार होने का दावा करती है, उसने धर्म का जितना मजाक बनाया है, वो बेहद निंदनीय और घटिया काम है.

पढ़ें:क्या मौर्या के आने से उत्तर प्रदेश में भाजपा के सिर मुकुट सज सकेगा?

सीपी राय ने कहा कि पहले बीजेपी राम के नाम को बेच रही थी और अब द्रौपदी के नाम पर यूपी की जनता के साथ मजाक कर रही है. वहीं बीजेपी नेता आईपी सिंह ने भी इस पोस्टर को विवादित और गलत माना है.

बीजेपी नेता का कहना है कि हमने अपने कार्यकर्ताओं को ऐसे काम से बचने की सलाह दी है. लेकिन आईपी सिंह ने ये भी कहा कि यूपी के जिस तरह के हालात हैं, वो किसी द्रौपदी से कमतर भी नहीं हैं.

पढ़ें:उत्तर प्रदेेश बीजेपी अध्यक्ष का थाने-कचहरी से गहरा रिश्ता है

First published: 15 April 2016, 2:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी