Home » इंडिया » Corona Virus: IAF C-17 Globemaster transport aircraft has left for Iran from Hindon Air Force Station
 

Corona Virus: ईरान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए रवाना हुआ वायुसेना का C-17 विमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2020, 23:11 IST

Corona Virus Updates: चीन (China) के वुहान (Wuhan) से शहर शुरु हुआ कोरोना वायरस (Corona Virus) अब दुनियाभर में फैल गया है. पूरी दुनिया में कोरोना के 113,751 मामले सामने आए हैं. इनमें से 3,990 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना से सबसे ज्यादा चीन प्रभावित हुआ है. यहां अबतक 3,120 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं दूसरे नंबर पर इटली (Italy) है जहां 463 लोगों की मौत हो गई है. इसके बाद तीसरे स्थान पर ईरान (Iran) है. जहां कोरोना के अबतक 7,161 मामले सामने आए हैं और यहां कोरोना के संक्रण के चलते 237 लोगों की मौत हो चुकी है.

इसी के साथ ईरान में रह रहे भारतीय नागरिकों पर भी कोरोना का गंभीर खतरा मंडराने लगा है. जिसे देखते हुए भारत सरकार ने अपने नागरिकों को वापस बुलाने की कवायद शुरु कर दी है. इसके लिए भारत सरकार ने भारतीय वायु सेना के सी-17 ग्लोबमास्टर ट्रांसपोर्ट विमान को ईरान भेजा है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को ईरान में फंसे भारतीयों के परिजनों से मुलाकात भी की. इसके बाद उन्होंने ये फैसला लिया.


इस विमान ने गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्‍टेशन से सोमवार रात 9 बजकर 04 मिनट पर उड़ान भरी. जानकारी के मुताबिक यह विमान सोमवार देर रात 2 बजे ईरान की राजधानी तेहरान पहुंचेगा. इसके बाद यह विमान तड़के सुबह करीब चार बजे भारत के लिए उड़ान भरेगा. उसके बाद ये विमान मंगलवार सुबह करीब 9:30 बजे गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर लैंड करेगा. ईरान से वापस लाए जा रहे सभी लोगों को हिंडर एयरपोर्ट पर ही रुकने की व्यवस्था की गई है.

अधिकारियों के मुताबिक, ईरान में फंसे कश्मीरी छात्रों और कोम शहर में फंसे जायरीनों के परिजनों ने केंद्र से जल्द से जल्द उन्हें हवाई जहाज द्वारा वापस लाने की मांग की थी. विदेश मंत्री ने रविवार को कहा था कि ईरान से भारतीयों को वापस लाने के लिए प्रयास जारी हैं. जयशंकर ने ट्विटर पर लिखा था कि, ईरान के कोम में फंसे जायरीन को भारत वापस लाने के प्रयास किए जा रहे हैं. स्क्रीनिंग की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है और अन्य तैयारियों को लेकर ईरानी अधिकारियों से चर्चा की जा रही है. उन्होंने लिखा कि ईरान में भारतीय उच्चायोग इस बारे में गंभीरता से काम कर रहा है.

विदेश मंत्री एस जयंशकर ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'भारतीय उच्चायोग ईरान में भारतीय मछुआरों से लगातार करीबी संपर्क में है और अब तक उनके बीच कोरोना संक्रमण का कोई भी मामला सामने नहीं आया है. हम उनके लिए आपूर्ति को सुनिश्चित कर रहे हैं और उनके कल्याण की निगरानी जारी रखेंगे.' विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने रविवार को कहा कि ईरान के कौम शहर से भारतीय जायरीनों को वापस लाने का प्रयास जारी है और ईरान के अधिकारियों के साथ इस पर चर्चा चल रही.

First published: 9 March 2020, 23:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी