Home » इंडिया » Corona Virus may have entered India in November or December according to Scientist estimate
 

कोरोना वायरस को लेकर वैज्ञानिकों का बड़ा खुलासा, जनवरी में नहीं इस महीने भारत पहुंचा कोविड-19

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2020, 10:10 IST

Corona Virus Pandemic: कोरोना वायरस का संक्रमण (Corona Virus Infection) भारत (India) में तेजी से फैलता जा रहा है. भारत में रोजाना कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के 8000 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. यहां अब तक छह हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इसी बीच वैज्ञानिकों (Scientist) ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है. वैज्ञानिकों का मानना है कि भारत में भले ही कोरोना का पहला मामला जनवरी में सामने आया हो, लेकिन ये नवंबर या दिसंबर 2019 में ही भारत में पहुंच गया था.

बता दें कि भारत में कोरोना का पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था. भारत के शीर्ष वैज्ञानिकों का कहना है कि चीन से जुड़े वायरस का प्रसार नवंबर महीने से ही शुरू हो गया था. इसे 'मोस्ट रिसेंट कॉमन एनसेस्टर' या 'सबसे हाल का सामान्य पूर्वज'द्वारा पता लगाया गया है. देश के प्रमुख अनुसंधान संस्थानों के शीर्ष वैज्ञानिकों के मुताबिक, वुहान से निकला कोरोना वायरस का पूर्वज वायरस 11 दिसंबर, 2019 तक फैल रहा था.


LAC पर चीनी सेना की अच्छी खासी संख्या, 6 जून को होगी दोनों देशों के लेफ्टिनेंट जनरलों की मीटिंग- रक्षामंत्री

वैज्ञानिकों के अनुमान के मुताबिक, तेलंगाना और अन्य राज्यों में फैल रहे वायरस की उत्पत्ति 26 नवंबर और 25 दिसंबर के बीच हुई थी, इसकी औसत तारीख 11 दिसंबर है. लेकिन इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है कि क्या 30 जनवरी से पहले चीन से यात्रा करने वालों से कोरोना वायरस ने भारत में दस्तक दी. क्योंकि उस दौरान देश में कोरोना की जांच बड़े पैमाने पर नहीं की जा रही थी.

Cyclone Nisarga : मुंबई में तेज बारिश और आंधी, नरीमन पॉइंट इलाके में उखड़े पेड़, NDRF तैयार

हैदराबाद स्थित 'सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी' (CCMB) के शोधकर्ताओं समेत अन्य शोधकार्ताओं ने न केवल कोरोना वायरस की उम्र का अनुमान लगाया है, बल्कि उन्होंने वायरस की एक नई जाति का पता भी लगाया है, जो वर्तमान में मौजूद वायरस से अलग है. शोधकर्ताओं ने इस नए वायरस को क्लेड I/A3i नाम दिया है. बता दें कि क्लेड वायरस को एक सामान्य पूर्वज के सभी विकासवादी वंशजों को शामिल करने वाले जीवों के एक समूह के रूप में परिभाषित किया गया है.

Coronavirus: भारत में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 1 लाख के पार

COVID-19: दुनियाभर में मरने वालों की संख्या तीन लाख 87 हजार के पार, 65 लाख से ज्यादा संक्रमित

CCMB के निदेशक डॉ राकेश के मिश्रा का कहना है कि भारत के केरल राज्य में सामने आया पहला मामला चीन के शहर वुहान से जुड़ा था. जहां से कोरोना वायरस का प्रसार पूरी दुनिया में हो गया. हालांकि, हैदराबाद में शोधकर्ताओं द्वारा खोजा गया नया क्लेड I/A3i वायरस चीन में पैदा नहीं हुआ. बल्कि ये दक्षिण-पूर्व एशिया में कहीं सामने आया है. हालांकि क्लेड की उत्पत्ति वाले सटीक देश के बारे में अभी तक कुछ पता नहीं चला है.

Coronavirus : उत्तर प्रदेश लौटे प्रवासियों में से मात्र 3 फीसदी कोरोना वायरस पॉजिटिव

First published: 4 June 2020, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी