Home » इंडिया » Corona Virus: Rajasthan and Punjab Governments announced lockdown till 31st March due to COVID19 impact
 

कोरोना वायरस का खौफ, राजस्थान और पंजाब में 31 मार्च तक लॉकडाउन

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 March 2020, 13:11 IST

Corona Virus impact: कोरोना वायरस (Corona Virus) के व्यापक असर के बाद राजस्थान (Rajasthan) और पंजाब सरकार (Punjab Government) ने राज्य में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने शनिवार देर शाम राज्य में लॉकडाउन की घोषणा की. उसके बाद पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Captain Amarinder Singh) ने भी आदेश जारी कर लॉकडाउन की घोषणा कर दी.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सूबे में 31 मार्च तक जरूरी सेवाओं को छोड़कर पूर्ण लॉकडाउन की घोषणी की है. उन्होंने एक बयान में कहा है कि राज्य में कोरोना वायरस पर अंकुश पाने के लिए और लोगों को सुरक्षित रखने के लिए 22 मार्च से 31 मार्च तक जरूरी सेवाओं और मेडिकल सेवाओं को छोड़कर 'पूर्ण लॉकडाउन होगा. सीएम गहलोत ने शीर्ष अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया था. उन्होंने कहा कि सभी सरकारी कार्यालय, मॉल फैक्टरियां, सार्वजनिक परिवहन आदि इस दौरान बंद रहेंगे. बता दें कि राजस्थान में कोरोना के अब तक 25 मामले सामने आ चुके हैं. 40 लोगों की जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है.

राजस्थान के बाद पंजाब सरकार ने भी लॉकडाउन की घोषणा की है. सूबे के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक आदेश जारी कर कहा है कि, राशन, सब्जी और दवा की दुकानों के अलावा सब कुछ बंद रहेगा. इस आदेश में कहा गया है कि शहर के अंदर बस, टैक्सी और ऑटो नहीं चलेंगे. सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा है कि कोरोना वायरस को देखते हुए राज्य में 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन के आदेश दिए हैं. सभी जरूरी सरकारी सेवाएं जारी रहेंगी और जरूरी सामान जैसे कि खाना, दवाईं आदि की दुकानें खुली रहेंगी. डीसी और एसएसपी को तत्काल प्रतिबंध लागू करने के निर्देश दिए हैं.

Janta Curfew: देशभर में दिख रहा पीएम मोदी की अपील का असर, घरों से बाहर नहीं निकल रहे लोग

जानिए क्या होता है लॉकडाउन-

इसी क्षेत्र, राज्य, शहर में लॉकडाउन तब किया जाता है जब किसी तरह की बड़ी आपदा होती है. यानी लॉकडाउन एक तरह की आपातकाल व्यवस्था होती है. लॉकडाउन के दौरान उस इलाके के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है. जीवन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति होती है. अगर किसी को दवा या अनाज की जरूरत है तो बाहर जा सकता है या फिर अस्पताल और बैंक के काम के लिए अनुमति मिल सकती है. वहीं छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सकती है.

सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान, बोले- जनता कर्फ्यू के लिए आगे भी रहें तैयार

कोरोना वायरस: रेलवे कर सकता है बड़ा ऐलान, 25 मार्च तक बंद कर सकता है सारी ट्रेनें

जनता कर्फ्यू के दौरान घरों से बाहर निकल रहे लोगों से ऐसे निपट रही दिल्ली पुलिस, आप भी कहेंगे वाह क्या बात है!

First published: 22 March 2020, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी