Home » इंडिया » Coronavirus: 12 year old girl child died while walking 100 km on foot from in Bijapur Chhattisgarh
 

Coronavirus: घर पहुंचने के लिए 100 किमी पैदल चली 12 साल की बच्ची, लेकिन 14 KM पहले तोड़ दिया दम

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2020, 15:00 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के कारण पूरे देश में पिछले लगभग एक महीने से लॉकडाउन है. इस दौरान कई प्रवासी मजदूर यहां-वहां फंसे हुए हैं. कई मजदूर अपने परिवारों के साथ पैदल ही अपने घरों के लिए निकल लिए हैं. इस दौरान कई बार उनके साथ अनहोनी की घटना भी सामने आ रही है. ऐसी ही एक भयावह घटना छत्तीसगढ़ से सामने आई है.

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में एक 12 साल की नाबालिग बच्ची अपने परिवार के साथ 100 किमी पैदल चलकर आ रही थी. इस दौरान वह घर पहुंचने ही वाली थी कि महज 14 किमी पहले बच्ची ने दम तोड़ दिया. इस घटना से बच्ची के मजदूर मां-बाप का रो-रोकर बुरा हाल है. एक रिपोर्ट के अनुसार ये लोग तेलंगाना से बीजापुर रोजगार के लिए गए थे और पैदल वापस आ रहे थे. इन लोगों ने तीन दिन तक पैदल सफर किया था. कहा गया है कि डिहाइड्रेशन से बच्ची की मौत हुई.


तेलंगाना के पेरूर गांव से 11 लोगों के साथ एक 12 साल की बच्ची भी निकली. इस दौरान ये लोग लगातार 3 दिनों तक पैदल चलकर छत्तीसगढ़ के बीजापुर के मोदकपाल इलाके में पहुंचे. लेकिन जब घर महज 14 किमी ही बचा था तो 12 साल की जमलो मडकामी डिहाइड्रेशन का शिकार हो गई. इस कारण मासूम बच्ची की मौत हो गयी.

ये परिवार गांव के कुछ लोगों के साथ रोजगार की तलाश में 2 महीने पहले तेलंगाना के पेरूर गांव मिर्ची तोड़ने के लिए गया हुआ था. बच्ची की मौत की खबर लगते ही एहतियात के तौर पर प्रशासन ने तेलंगाना से लौटे मजदूरों को भी क्वारंटीन कर दिया.

अपनी इकलौती बेटी की मौत की खबर लगते ही पिता आंदोराम मडकम और मां सुकमती मडकम जिला चिकित्सालय बीजापुर पहुंचे. मौत के तीन दिनों बाद आज बच्ची के शव का पोस्टमार्टम बीजापुर में हुआ. जिसके बाद जमलो के शव को उसके मां-बाप को सौंपा गया. जमलो के पिता आंदोराम मडकम ने बताया कि बच्ची को उल्टी-दस्त हुआ, पेट में भी दर्द था.

कोरोना नहीं केरल में ये वायरस ले रहा है बिल्लियों की जानें, वायनाड में दहशत का माहौल

First published: 21 April 2020, 14:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी