Home » इंडिया » Coronavirus: 95 COVID-19 deaths in 45 days bur road accident took 70 lives in just 20 days in UP
 

उत्तर प्रदेश: कोरोना से 45 दिनों में 95 लोग मरे, मात्र 20 दिनों में रोड एक्सीडेंस में 70 ने गंवाई जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 May 2020, 19:23 IST

Road Accidents in Uttar Pradesh: देश में कोरोना वायरस का संकट कहर ढा रहा है लेकिन अब देश में एक बड़ी समस्या खड़ी हो गई है. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि जितने लोग कोरोना वायरस से नहीं मर रहे हैं उससे ज्यादा लोग रोड एक्सीडेंट में मारे जा रहे हैं. उत्तर प्रदेश से आ रही मृतकों के आंकड़े से तो यही प्रतीत होता है. 

उत्तर प्रदेश में पिछले 45 दिन के कोरोना संकट में अब तक 95 लोगों की जान गई है. लेकिन मात्र 20 दिनों में राज्य में सड़क दुर्घटनाओं में 70 लोगों की जान चली गई है. यही नहीं 200 से ज्यादा लोग रोड एक्सीडेंट में गंभीर रूप से घायल हुए हैं. इसमें से ज्यादातर रोड एक्सीडेंट प्रवासी मजदूरों और कामगारों से जुड़े हैं. ज्यादातर लोग काम धंधा बंद होने के बाद दूसरे राज्यों से अपने घरों को लौट रहे थे.

80 साल की मां ने PM केयर फंड में दान की जीवनभर की पेंशन, 10 किमी पैदल चल जमा किए 2 लाख रुपये

हालांकि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार सड़क दुर्घटनाओं को लेकर गंभीर नजर आती है. खुद सीएम योगी लगातार अपील कर रहे हैं कि प्रवासी मजदूर और कामगार किसी भी ट्रक अथवा गैर सवारी वाले वाहनों का उपयोग कर अपने राज्यों को न लौटें. सीएम योगी ने अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि मजदूर पैदल न चलें.

मुख्यमंत्री ने यहां तक आदेश दिया है कि यदि कोई ट्रक अथवा गैर सवारी वाहन मजदूरों को बिठाया पाया जाता है तो वाहन मालिक और ड्राइवर के खिलाफ गंभीर कार्रवाई की जाएग और केस दर्ज किया जाएगा. हालांकि सीएम के इस आदेश के बावजूद रोड एक्सीडेंट की समस्या जस की तस बनी हुई है. 

स्वयं प्रदेश के डीजीपी एचसी अवस्थी ने कहा कि यूपी के बॉर्डर पर हजारों की संख्या में मजदूर प्रवेश करने के लिए हर रोज आ रहे हैं. सरकार ट्रेन और बसों का संचालन कराकर उन्हें उनके घरों तक पहुंचा रही है. सरकार लोगों से यह भी अपील कर रही है कि वे ट्रकों आदि से सवारी न करें.

आज जारी होनी थी CBSE की 10वीं-12वीं परीक्षा का टाइम टेबल, अब 18 मई को आएगी डेटशीट

Coronavirus: वित्त मंत्री की चौथी प्रेस कॉन्फ्रेंस, रक्षा क्षेत्र और सेना पर विशेष फोकस

First published: 16 May 2020, 18:11 IST
 
अगली कहानी