Home » इंडिया » Coronavirus: Arvind Kejriwal appeals to recovered people from COVID-19 to donate blood plasma
 

कोरोना संकट: चार मरीजों पर हुआ प्लाज्मा थेरेपी का ट्रायल, CM केजरीवाल ने कहा- नतीजे उत्साहवर्धक

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2020, 15:15 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है. इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि प्लाज्मा थेरेपी से बेहतर नतीजे मिल रहे हैं. सीएम केजरीवाल ने बताया कि हमने LNJP अस्पताल के 4 मरीज़ों पर प्लाज्मा ट्रायल किया. इसके अब तक के नतीजे उत्साहवर्धक हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मीडिया के सामने जानकारी दी कि केंद्र सरकार की इजाजत मिलने के बाद हमने प्लाज्मा थेरेपी का ट्रायल किया. 4 मरीजों पर इसका ट्रायल किया गया. इस ट्रायल के नतीजे काफी अच्छे आए. LNJP अस्पताल के 4 मरीज़ों पर प्लाज्मा का यह ट्रायल करके देखा गया.

 

अरविंद केजरीवाल के साथ मौजूद डॉक्टर ने बताया कि नतीजे बेहतरी रहे हैं. हमें ज्यादा से ज्यादा प्लाज्मा की जरूरत है. इसलिए जो भी लोग ठीक हो रहे हैं वो आगे आएं और प्लाज्मा डोनेट करें. अभी भी कई ऐसे मरीज हैं जिन्हें प्लाज्मा की जरूरत है.

क्या होती है ब्लड प्लाज्मा थेरेपी?

ब्लड प्लाज्मा थेरेपी एक ऐसी तकनीक है, जिसमें खतरनाक कोरोना वायरस से ठीक हुए मरीज के खून को संक्रमित मरीज में चढ़ाया जाता है. इस तरह से कोरोना वायरस का इलाज किया जाता है. दरअसल, कोरोना के जिस मरीज ने इस वायरस को मात दी है. वो इसलिए ठीक हो पाया क्योंकि उसके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता ने कोरोना को हराया.

इसके बाद कोरोना से ठीक हुए मरीज का खून इकट्ठा करते हैं और उसके खून से प्लाज्मा निकालकर उसको एक नए कोरोना मरीज में चढ़ाया जाता है. ऐसा प्रक्रिया के बाद कोरोना संक्रमित मरीज में एंटीबॉडिज बनता है. जिससे नए मरीज के शरीर में कोरोना से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता मजूबत होती है.

इसी थेरेपी के जरिए उम्मीद की जाती है कि को इस प्रतिरोधक क्षमता से कोरोना के वायरस को खत्म किया जा सकता है. ब्लड प्लाज्मा पीले रंग का तरल होता है. खून में ये 55 फीसदी तक मौजूद रहता है. वहीं 41 फीसदी के आसपास रेड ब्लड सेल और 4 फीसदी वाइट ब्लड सेल होते हैं. ब्लड प्लाज्मा की वजह से ही पूरे शरीर में रक्त का संचार होता है. 

Coronavirus : विदेशों में फंसे छात्र 3 मई तक का करें इंतज़ार- विदेश राज्य मंत्री

Coronavirus: 24 अप्रैल- दुनियाभर में मौत का आंकड़ा 2 लाख के करीब, भारत में 23,000 से ज्यादा केस

First published: 24 April 2020, 15:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी