Home » इंडिया » Coronavirus: Cheapest medicine for covid-19 will be sell in India, A tablet will cost Rs 59
 

खुशखबरी: भारत में मिलेगी मात्र 59 रुपये रुपये की कोरोना की टेबलेट, बाजार में लाने की मिली अनुमति

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2020, 11:53 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस  का प्रकोप भारत समेत पूरी दुनिया में फैला हुआ है. वहीं, इस बीमारी की अब सबसे सस्ती दवा भारत में मिलने जा रही है. इस दवा को बाजार में लाने की अनुमति भी एक कंपनी को मिल गई है. ड्रग्स कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DCGI) ने इस दवा को बाजार में लाने की अनुमति एक दवा कंपनी को दी है.

खास बात यह है कि इस दवा की एक टैबलेट मात्र 59 रुपये में मिलेगी. इसका नाम है फैवीटॉन (Faviton). इस दवा को ब्रिन्टन फार्मास्यूटिकल्स ने बनाया है. इस कंपनी का दावा है कि यह एंटीवायरल ड्रग है, यह कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करेगी. अभी तक इस दवा को फैवीपिरावीर (Favipiravir) नाम से बा जार में बेचा जाता है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ब्रिन्टन फार्मा ने बताया है कि कि फैवीटॉन दवा 200 मिलीग्राम की टैबलेट में आएगी. टैबलेट की 59 रुपये की कीमत मैक्सिमम रिटेल प्राइस होगी. यह दवा इससे ज्यादा कीमत पर नहीं बेची जा सकेगी. ब्रिन्टन फार्मा के सीएमडी ने बताया कि वह यह दवा देश के हर कोरोना मरीज को देना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि इस दवा को वह हर कोविड सेंटर पर पहुंचाएंगे. उन्होंने बताया कि उनकी दवा की कीमत भी फिक्स है. जो काफी सस्ती है. इस समय फैवीपिरावीर दवा की जरूरत सबको है. कंपनी के सीएमडी ने दावा किया कि उन मरीजों के लिए यह दवा बेहतरीन है, जिन्हें कोरोना का हल्का या मध्यम दर्जे का संक्रमण है.

डीसीजीआई ने कोरोना वायरस की खतरनाक स्थिति को देखते हुए भारत में फैवीपिरावीर को जून में अप्रूवल दिया था. इसे अब जाकर बाजार में लाने की अनुमति मिली है. इसके अलावा ब्रिन्टन फार्मा जापान की फूजीफिल्म तॉयोमा केमिकल कंपनी के साथ मिलकर एवीगन नामक एक दवा बना रही है. यह दवा फैवीटॉन का जेनेरिक वर्जन है.

बता दें कि कि पिछले 24 घंटों के दौरान पूरी दुनिया में दो लाख 98 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए. इस दौरान करीब सात हजार लोगों की मौत हुई. दुनिया के 213 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस का पहला मामला पिछले साल दिसंबर में चीन के वुहान शहर में सामने आया था. इसके बाद इसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया. अमेरिका, ब्राजील, भारत, रूस और दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है.

10 हजार बेड वाले सरदार पटेल कोविड सेंटर में नाबालिग लड़की से रेप, कोरोना मरीज पर लगा आरोप

कारगिल विजय दिवस के 21 साल पूरे होने पर आपको जाननी चाहिए ये 10 चौंकाने वाली बातें

First published: 25 July 2020, 11:00 IST
 
अगली कहानी