Home » इंडिया » Coronavirus: Congress leader Rahul Gandhi press conference on Covid19 and Lockdown
 

Coronavirus: राहुल गांधी का बयान- लॉकडाउन से कहीं पूरी तरह चौपट न हो जाए देश की अर्थव्यवस्था

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 April 2020, 18:11 IST

Coronavirus: देश में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते प्रकोप के कारण पिछले 23 दिनों से संपूर्ण लॉकडाउन लागू है. इसे लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष लॉकडाउन को लेकर सोशल मीडिया के जरिए लाइव हुए. इस दौरान उन्होंने देश में कोरोना को लेकर बढ़ रहे मामलों के बारे में संवेदना जताई.

राहुल गांधी ने कहा कि उनकी बातों को आलोचना बिल्कुल न समझें, बल्कि इसे एक सुझाव के तौर पर लें. उन्होंने कहा कि वह कुछ रचनात्मक सुझाव देना चाहते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि वह पिछले कुछ महीने से विशेषज्ञों से बात कर रहे हैं. इस आधार पर कह रहे हैं कि लॉकडाउन रेड बटन है. 

राहुल गांधी ने कहा कि लॉकडाउन कोरोना वायरस का पूरा इलाज नहीं है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन ख़त्म होते ही वायरस अपना काम करने लगेगा. इस समय का उपयोग बड़े पैमाने पर टेस्टिंग के लिए करना चाहिए. जिस पैमाने पर टेस्टिंग देश में होना चाहिये वह नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 के ख़िलाफ लड़ाई टॉप डाउन न हो.

राहुल गांधी ने सलाह दिया कि प्रधानमंत्री राज्यों के मुख्यमंत्रियों को इम्पावर करें. कोरोना के खिलाफ लड़ाई जिला स्तर, ब्लॉक स्तर पर ज़्यादा कारगर है. उन्होंने बताया कि उनके क्षेत्र केरल के वायनाड में भी यही कारगर हुआ. टेस्टिंग पर जो हो गया हो गया. मैं उस पर कुछ नहीं कह रहा. आगे देखना चाहिए.

राहुल गांधी ने कहा कि यदि टेस्ट नहीं किए तो लॉकडाउन के बाद कोरोना वायरस फिर उसी हालत में पहुंच सकता है. इसके बाद फिर से लॉकडाउन करना पड़ेगा. अभी ये लड़ाई शुरू हुई है. जीत का ऐलान अभी जल्दबाज़ी होगी, इससे धीरे-धीरे लड़ना होगा. सारे हथियार अभी नहीं ख़त्म करने होंगे क्योंकि आने वाले समय में अर्थव्यवस्था पर बड़ा बैक्लैश होने जा रहा है.

लॉकडाउन: 'वर्क फ्रॉम होम' के दौरान लोगों में तेजी से फैल रही ये बीमारी, तुरंत हो जाएं सावधान

Coronavirus: आर्डर लेकर आया डिलीवरी बॉय निकला कोरोना पॉजिटिव, 72 परिवार क्वारंटाइन

First published: 16 April 2020, 18:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी