Home » इंडिया » Coronavirus : Congress party to increase train fare for migrant laborers: Sonia Gandhi
 

Lockdown : कांग्रेस पार्टी उठाएगी प्रवासी मजदूरों के रेल किराये का खर्चा: सोनिया गांधी

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2020, 9:49 IST

Coronavirus Lockdown: अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार ने ट्रेनें चलाने का फैसला किया है. इस बीच कुछ राज्यों ने केंद्र सरकार से कहा है कि वह प्रवासियों के किराये का भुगतान करें. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने रविवार को केंद्र और रेलवे से मानवीय आधार पर खर्च उठाने की मांग की है क्योंकि श्रमिक पहले से ही आर्थिक तंगी झेल रहे हैं.

इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने निर्णय लिया है कि प्रत्येक राज्य कांग्रेस कमेटी जरूरतमंद श्रमिक और प्रवासी मजदूरों की रेल यात्रा का खर्च उठाएगी और इस संबंध में आवश्यक कदम उठाएगी. एक रिपोर्ट के अनुसार रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव का कहना है कि इन ट्रेनों को मुफ्त में इसलिए नहीं चलाया जा रहा है ताकि सिर्फ फंसे हुए लोगों को ले जाया जा सके. उन्होंने कहा कि अगर मुफ्त में ट्रेनें चलाएंगे तो अन्य लोग भी इसका लाभ लेने की कोशिश करेंगे.


स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार भारत में COVID-19 पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या बढ़कर 42,533 हो गई है, इसमें 29,453 सक्रिय मामले है. जबकि 11,707 ठीक हुए हैं. भारत में अबतक 1373 मौतें हुई हैं.

यादव ने कहा "एक बार जब आप सेवाओं को मुफ्त कर देते हैं, तो हर कोई यात्रा करेगा. यह सेवा केवल फंसे हुए प्रवासी कामगारों, छात्रों आदि के लिए है और उन्हें पूरी तरह से जांच के बाद ही यात्रा करने की अनुमति है. ये ट्रेनें आम जनता के लिए नहीं हैं''. उन्होंने कहा "हम सिर्फ मामूली किराया वसूल रहे हैं." अलग से राज्य के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने रविवार को यह स्पष्ट किया कि परिवहन सुविधा केवल ऐसे लोगों के लिए है, जो लॉकडाउन के  दौरान फंसे थे क्योंकि कई लोग मजदूरों से रेलवे द्वारा किराया वसूलने पर सवाल उठा रहे हैं. 

शनिवार को अपने दिशानिर्देशों में रेलवे ने कहा कि वह टिकटों को मूल राज्यों को सौंप देगा और राज्य टिकट का किराया एकत्र कर रेलवे को सौंपेंगे. झारखंड ने कोटा से छात्रों को वापस लाने के लिए एक ट्रेन के लिए कोटा प्रशासन को 5.4 लाख रुपये का भुगतान किया है. राज्य का कहना है कि 1,200 प्रवासी श्रमिकों के लिए भुगतान करना अभी बाकी है. ये मजदूर तेलंगाना से झारखंड के हटिया तक पहली स्पेशल ट्रेन में आये थे. 

लॉकडाउन 3.0: आज से खुल गई शराब की दुकानें, छत्तीसगढ़ ने की होम डेलिवरी की व्यवस्था

Coronavirus: योगी सरकार ने लॉकडाउन-3 को लेकर जारी की गाइडलाइन, यहां 50% सीटों के साथ चलेंगी बसें

First published: 4 May 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी