Home » इंडिया » Coronavirus: Covid-19 harms your body even in asymptomatic patients
 

कोरोना को लेकर बड़ी खबर, लक्षण न दिखने के बाद भी शरीर को पहुंचाता है नुकसान

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 June 2020, 17:56 IST

Coronavirus: भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है. कोरना वायरस को लेकर सबसे बुरी खबर यह है कि लक्षण न दिखने के बाद भी यह इंसान के शरीर को नुकसान पहुंचाता है. कोरोना से संक्रमित काफी लोगों में इसके लक्षण सामने नहीं आते. इस कारण कई लोग काफी दिन तक टेस्ट नहीं करवाते हैं.

लक्षण सामने न आने की वजह से लोग डॉक्टरों की सलाह भी नहीं लेते हैं और खुद को आइसोलेट भी नहीं  करते हैं. इस कारण कोरोना का संक्रमण नियंत्रित नहीं हो पा रहा है. कई लोगों को महीनों बाद पता चलता है कि उन्हें कोरोना है और तब तक वह कई लोगों को संक्रमित कर चुका होता है.

ताजा शोध बताते हैं कि जिन लोगों में कोरोना के लक्षण सामने नहीं आते यानि एसिम्टोमैटिक मरीजों पर भी इस महामारी का काफी बुरा असर होता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि WHO ने भी माना है कि ऐसे मरीजों की संख्या दुनियाभर में 80 प्रतिशत तक हो सकती है. WHO का कहना है कि जि न लोगों में संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं देते उनसे काफी तेजी से कोरोना फैलता है.

COVID19: दुनियाभर में अब तक 4.51 लाख लोगों की मौत, भारत में तीन लाख 67 हजार से ज्यादा संक्रमित

रिसर्च में सामने आया है कि जिन लोगों में कोरोना का लक्षण दिखाई नहीं देता, वायरस उनके शरीर को काफी नुकसान पहुंचाता है. इसमें मरीज को पता भी नहीं चलता कि उसके साथ क्या हो रहा है. एसिम्टोमैटिक मरीज भी कोरोना वायरस से जूझते हैं. 

द जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक, वुहान शहर के शोधकर्ताओं ने कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई देने वाले तथा दिखाई नहीं देने वाले मरीजों पर रिसर्च किया. इसमें उन्होंने पाया कि एसिम्टोमैटिक मरीजों में लक्षण दिखाई नहीं दिए, वहीं टेस्टिंग में सामने आया कि उनके शरीर को भी संक्रमण से नुकसान हुआ है.

कोरोना वायरस की चपेट में आईं आप विधायक आतिशी, हेल्थ डिपार्टमेंट के साथ कर रही थी काम

India-China Face OFF: पीएम मोदी बोले- व्यर्थ नहीं जाएगा जवानों का बलिदान, हमारे सैनिक मारते मारते हुए शहीद

First published: 18 June 2020, 17:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी