Home » इंडिया » Coronavirus: Health Ministry said if no lockdown it would have 8 lakh and twenty thousand patients
 

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया- लॉकडाउन नहीं होता तो देश में होते 8 लाख 20 हजार मरीज

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2020, 19:10 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस के प्रकोप में आकर अब तक देशभर में 239 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है. भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 7447 पर पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी कि अगर लॉकडाउन लागू नहीं होता तो कोविड-19 के मामले अब तक 41 फीसदी बढ़ जाते. इसके फ लस्वरूप 15 अप्रैल तक देश में 8.2 लाख कोरोना वायरस संक्रमितों के मामले सामने आते.

स्वास्थ्य मंत्रालय जानकारी दी कि पिछले 24 घंटे में देशभर में कोविड-19 के मामलों में 1035 की बढ़ोतरी हुई, इसके अलावा 40 मरीजों की मौत हो गयी है. गौरतलब है कि देश में संपूर्ण लॉकडाउन का आज 18वां दिन है. संपूर्ण लॉकडाउन के बाद भी देश में संक्रमित मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, कोरोना वायरस संक्रमितों के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं. महाराष्ट्र में संक्रमित मरीजों का संख्या 1800 के पार पहुंच गई है. यहां अब तक देश में सबसे ज्यादा 110 लोगों की मौत हो चुकी है. 

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने जानकारी दी कि COVID-19 से बचने के लिए देश ने काफी तेज तैयारी की है. उन्होंने बताया कि देश में 586 कोरोना वायरस समर्पित अस्पताल और 1 लाख से अधिक आइसोलेशन बेड बनाए गए हैं. वहीं 11,500 ICU बेड हैं.

Coronavirus: दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में एक भिखारी पाया गया कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

लॉकडाउन बढाकर पीएम मोदी ने लिया सही फैसला- सीएम केजरीवाल

कोरोना वायरस: 91 मरीज ठीक होने के बाद लौटे थे घर, उनमें फिर से मिले COVID-19 के संक्रमण

MP: सरकारी कर्मचारियों से मारपीट के आरोप में पुलिस ने भेजा था जेल, अब निकला कोरोना पॉजिटिव

कोरोना वायरस: 91 मरीज ठीक होने के बाद लौटे थे घर, उनमें फिर से मिले COVID-19 के संक्रमण

First published: 11 April 2020, 19:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी