Home » इंडिया » Coronavirus: If liquor charged more than fixed price, Yogi government will take strong action
 

Coronavirus: शराब की तय कीमत से ज्यादा वसूला तो खैर नहीं, योगी सरकार लेगी कड़ा एक्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2020, 14:13 IST

Coronavirus: कोरोना के बढ़ते प्रकोप की वजह से देश में जारी लॉकडाउन के बीच आज से देशभर में शराब की दुकानों को खोल दिया गया है. उत्तर प्रदेश में भी आज से तीनो जोन में शराब की दुकानों को खोला गया है. इस बीच खबर आ रही है कि दुकानों से शराबों पर तय रेट से ज्यादा की कीमत वसूली जा रही है.

इसे लेकर अब आबकारी आयुक्त ने एक निर्देश जारी किया है. उत्तर प्रदेश आबकारी आयुक्त के निर्देशानुसार, राज्य में कहीं भी  शराब की तय कीमत से ज्यादा दाम लिए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. निर्देशानुसार, सभी लाइसेंस धारकों को निर्धारित मूल्य पर ही शराब बेचनी होगी.  आबकारी अधिकारियों को साथ ही टेस्ट परचेजिंग करने के लिए भी कहा गया है.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने शराब की बिक्री के लिए समय-सीमा निर्धारित की है. आबकारी विभाग की मात्र एकल दुकानों को ही खोला जा सकेगा. इसमें सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक शराब की बिक्री की अनुमति होगी. इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखने को कहा गया है. इसलिए शराब की दुकान पर एक वक्त में सिर्फ 5 लोग ही खरीद सकते हैं.

Lockdown : कांग्रेस पार्टी उठाएगी प्रवासी मजदूरों के रेल किराये का खर्चा: सोनिया गांधी

बता दें कि किसी भी राज्य की कमाई का मुख्य स्रोत जीएसटी, भू-राजस्व, पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले कर तथा शराब पर लगने वाली एक्साइज और गाड़ियों पर लगने वाले टैक्स होते हैं. शराब पर लगने वाला एक्साइज टैक्स राज्यों के राजस्व में एक बड़ा योगदान करता है. इसी को ध्यान में रखते हुए देशभर में शराब की दुकानों को आज से खोला गया है.

शराब को रखा गया है जीएसटी से बाहर

बता दें कि शराब को जीएसटी से बाहर रखा गया है. इसलिए राज्य सरकारें इन पर भारी टैक्स लगा सकती हैं और अपना राजस्व बढ़ा सकते हैं. राजस्थान सरकार ने हाल ही में शराब पर एक्साइज टैक्स 10 फीसदी बढ़ाया था. वहीं देश में निर्मित विदेशी शराब पर भी टैक्स अब 35-45 फीसदी तक हो गया है.

ज्यादातर राज्यों के कुल राजस्व का लगभग 15 से 30 फीसदी हिस्सा मात्र शराब से ही आ जाता है. उत्तर प्रदेश की बात करें तो शराब की बिक्री से यहां के कुल टैक्स राजस्व का करीब 20 फीसदी हिस्सा मिलता है. बीयर पर टैक्स बढ़ाकर 45 फीसदी किया गया है, इसका मतलब यह है कि 100 रुपये की बीयर बेचने में 45 रुपया सरकार को टैक्स के रूप में मिल जाता है.

Lockdown : देशभर से आ रही हैं शराब की दुकानों के बाहर लगी लंबी कतारों की तस्वीरें

Coronavirus : पिछले 24 घंटों में सामने आये 2553 नए मामले और 72 लोगों की मौत

First published: 4 May 2020, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी