Home » इंडिया » Coronavirus: Indian scientists claim second wave of covid-19 may come in winters
 

Coronavirus: भारतीय वैज्ञानिकों का दावा- सर्दियों में आ सकती है कोरोना वायरस की दूसरी लहर

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 October 2020, 15:24 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस का प्रकोप देश में धीरे-धीरे कम होने लगा है. पिछले कुछ दिनों में भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों तथा मौत के आंकड़ों में कमी देखने को मिल रही है. इस बीच सरकार की ओर से नियुक्‍त वैज्ञानिकों की एक कमेटी ने देश में कोरोना को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

वैज्ञानिकों की इस कमेटी का कहना है कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण का पीक अब बीत चुका है. हालांकि कमेटी ने यह भी कहा है कि देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर सर्दियों में आ सकती है. वैज्ञानिकों ने कहा कि इस आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता कि सर्दियों में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आ जाए.

Coronavirus: 74 दिनों तक भारत में आए सबसे ज्यादा मामले, अब फिर टॉप पर पहुंचा अमेरिका

उन्होंने कहा कि फरवरी 2021 में भारत में कोरोना वायरस के सक्रिय केस 1.06 करोड़ से अधिक हो सकते हैं. ऐसे में कोरोना वायरस के खिलाफ बचाव वाले जरूरी कदम देश में ऐसे ही चालू रहने चाहिए. कमेटी में नीति आयोग के सदस्‍य पॉल भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि पिछले तीन हफ्ते से भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में कमी आई है.

इसके आगे उन्होंने काह कि सर्दियों में कोरोना की दूसरी लहर से मना नहीं किया जा सकता. वैज्ञानिकों की इस कमेटी ने कहा कि यदि भारत में मार्च में लॉकडाउन न लगाया जाता तो देश में अब तक कोरोना से मरने वालीं की संख्या 25 लाख के पार होती, लेकिन लॉकडाउन की ही वजह से देश में 1.14 लाख मौतें हुई हैं.

बता दें कि देश में अब तक 74,32,680 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. भारत में अब तक  65,24,595 लोग इलाज के बाद ठीक होकर घर वापस लौट चुके हैं. देश में अभी 7,83,311 मरीजों का इलाज चल रहा है. पिछले 24 घंटों की बात करें तो भारत में 62,212 नए मामले सामने आए. भारत अब दुनिया में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में दूसरे नंबर पर आ गया है. 

COVID-19: पूरी दुनिया में करीब चार करोड़ लोग कोरोना पॉजिटिव, 11.14 लाख से ज्यादा की मौत, लॉकडाउन में फिर से ये देश

Coronavirus को लेकर आई बड़ी खुशखबरी, देश में एक्टिव मामले घटकर हुए 8 लाख से नीचे

First published: 18 October 2020, 15:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी