Home » इंडिया » Coronavirus lockdown: Center serious about migrants returning on foot, may allow transport to states
 

lockdown: पैदल घर लौट रहे प्रवासियों को लाने के लिए केंद्र से मिल सकती है परिवहन की अनुमति

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2020, 10:09 IST

coronavirus lockdown: केंद्र राज्य सरकारों को उन प्रवासी श्रमिकों को ट्रांसपोर्ट करने की अनुमति देने पर विचार कर रहा है जो कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए देशव्यापी लॉक डाउन के कारण अपने गांवों में लौटने में असमर्थ हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार ऐसे श्रमिकों की स्क्रीनिंग और उनके लिए सड़क परिवहन खोलने के लिए राज्यों को दिशा-निर्देश जारी कर सकती है. बुधवार को लागू हुए 21 दिनों के लॉकडाउन में कई शहरों से प्रवासी श्रमिकों का पलायन शुरू हो गया है.

सरकार ने फिलहाल परिवहन पर रोक लगाई है जिस कारण लोग बड़ी संख्या में पैदल घर जा रहे हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि “प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में चर्चा हो रही है. कुछ प्रवासी श्रमिकों को घर लौटने में मुश्किल हो रही है और उन राज्यों में फंसे हुए हैं जहां वे लंबे समय से काम कर रहे हैं. कुछ राज्य सरकारों ने इन श्रमिकों को वापस ले जाने के लिए परिवहन सेवा का अनुरोध किया है. अब राज्यों को पीएमओ से निर्देश का इंतजार है.”


हालांकि अधिकारियों का यह भी मानना है कि एक स्थान से दूसरे स्थान पर श्रमिकों को ले जाने के माध्यम से वायरस के फैलने का जोखिम होगा. मंगलवार को उत्तराखंड सरकार ने एक सार्वजनिक नोटिस जारी किया था जिसमें कहा गया था कि वह दिल्ली से राज्य से संबंधित प्रवासी श्रमिकों को लेने की व्यवस्था करने के लिए तैयार है. राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि वह उन प्रवासी श्रमिकों की सूची तैयार कर रहा था जो फंसे हुए हैं और शनिवार को पहली बस सेवा शुरू करेंगे".

 

गृह सचिव अजय कुमार भल्ला का कहना है कि उन्होंने मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा "मुझे पता है कि राज्य इस संबंध में कई कदम उठा रहे हैं, लेकिन असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों के बीच बेचैनी अभी भी बनी हुई है." इंडिगो के सीईओ रोनोजॉय दत्ता ने नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को लिखा "संकट की इस घड़ी में महत्वपूर्ण जीवन रक्षक गतिविधि से जुड़े होने पर हमें बेहद गर्व होगा."

प्रवासी श्रमिकों को राज्यों के सैकड़ों किलोमीटर तक पैदल चलते देखा गया है. चाहे वह दिल्ली हो, तेलंगाना हो या केरल हो. स्थिति इतनी खराब है कि गुरुवार को महाराष्ट्र पुलिस ने 300 से अधिक प्रवासी श्रमिकों को तेलंगाना से आने वाले दो कंटेनर ट्रकों में देखा.

लॉकडाउन: पैदल घर का रास्ता नापने के लिए NH 24 पर दिखे हजारों की संख्या में लोग

First published: 28 March 2020, 10:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी