Home » इंडिया » Coronavirus: Nitish Kumar says send people in buses is wrong decision
 

Coronavirus: नीतीश कुमार का बयान- लोगों को बसों में भेजना गलत कदम, बीमारी रोकना होगा मुश्किल

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2020, 15:25 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति है. इस दौरान कई जगहों पर लोग रास्ते में फंसे हुए हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज 1000 बसों से हजारों लोगों को उनके गंतव्य स्थान पर भेजने का निर्णय लिया है. उन्होंने उत्तर प्रदेश के लोगों को उनके घरों तक बसों से पहुंचाने का फैसला किया.

हालांकि, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कहना है कि बसों से लोगों को भेजना एक ग़लत कदम साबित हो सकता है. उन्होंने बयान दिया कि विशेष बसों से लोगों को भेजने से कोरोना वायरस और फैलेगा जिसकी रोकथाम और निबटाव करना सबके लिए मुश्किल हो सकता है. नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसा कदम लॉकडाउन के फैसले को पूरी तरह फेल कर देगा.

बिहार के सीएम ने यह भी सुझाव दिया कि जो जहां है वहीं पर कैम्प लगाकर लोगों के रहने और खाने की व्यवस्था की जानी चाहिए. बता दें कि दिल्ली-एनसीआर से हजारो की संख्या में यूपी और बिहार के मजदूर अपने घर जाने के लिए पैदल निकल रहे हैं. इसे देखते हुए ही यूपी सरकार ने बसों का इंतजाम किया है.

यूपी सरकार द्वारा संचालित ये बसें नोएडा-गाजियाबाद से हर दो घंटों में रवाना होंगी. इन बसों के बाद कई दिनों से परेशान यात्रियों के लिए राहत वाली बात है. हालांकि ये भी सच्च है कि अगर इन यात्रियों में कोई भी व्यक्ति संक्रमित हुआ तो देश के लिए बड़ी समस्या हो सकती है. बता दें कि भारत में कोरोनावायरस से पीड़ित मरीज़ों की संख्या 873 हो गई है, देश में अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है. 

Coronavirus: फंसे यात्रियों को घर पहुंचाने के लिए रातभर जागते रहे CM योगी, मुहैया कराईं 1000 बसें

कोरोना वायरस: दुकानदार ने बाहर निकलने से किया मना तो गांव वालों ने पीट-पीटकर मार डाला

First published: 28 March 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी