Home » इंडिया » Coronavirus: Railways says not required to ask states for operate shramik special trains
 

Coronavirus: श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन पर रेलवे का बयान- अब राज्यों से नहीं ली जाएगी अनुमति

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 May 2020, 17:43 IST

Coronavirus: कोरोना संकट के बीच देश में जारी लॉकडाउन के दौरान हजारों प्रवासी मजदूर देश के दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं. इस बीच कई राज्यों ने श्रमिक विशेष ट्रेनों को चलाने की अनुमति नहीं दी. जिसके बाद अब रेलवे ने कहा है कि ऐसी  ट्रेनों के संचालन के लिए राज्यों की अनुमति की जरूरत नहीं.

रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए उन  राज्यों की सहमति की जरूरत नहीं जहां यात्रा समाप्त होनी है. इसके लिए गृहमंत्रालय ने नई एसओपी जारी कर दी है. इसके बाद ट्रेन समापन होने वाले राज्यों के सहमति की आवश्यकता नहीं है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कुछ दिन पहले कहा था कि प्रवासी मजदूरों के लिए शुरू की गई श्रमिक स्पेशल सेवा को कई राज्य अनुमति नहीं दे रहे.

पीयूष गोयल ने कहा था कि इस कारण अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन नहीं हो पा रहा है. बता दें कि केंद्र सरकार ने देश में जारी लॉकडाउन के बीच फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए स्पेशल ट्रेन सेवा शुरू की थी. इन ट्रेनों के संचालन के लिए अभी राज्यों की ओर से आवेदन किए जाते थे. वहीं पश्चिम बंगाल सहित कुछ राज्यों ने ट्रेनों को अनुमति नहीं दी थी या कम दी थी.

पीयूष गोयल ने कहा था कि 1200 ट्रेनें सिर्फ प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए रिजर्व कर दी गई हैं. रोज 300 ट्रेनें शुरू कर सकते हैं. उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल, राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड जैसे राज्य कम ट्रेनों के लिए अनुमति दे रहे हैं. बता दें कि भारतीय रेलवे ए क मई से लेकर अब तक 1,565 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला चुका है. इन ट्रेनों से बीस लाख प्रवासियों को घर पहुंचाया जा चुका है.

तालिबान की सफाई- कश्मीर भारत का आंतरिक मामला, नहीं करेंगे हस्तक्षेप

यूपी, बिहार, महाराष्ट्र में एक के बाद एक तीन सड़क हादसे, 16 प्रवासी मजदूरों की मौत

First published: 19 May 2020, 17:16 IST
 
अगली कहानी