Home » इंडिया » Coronavirus: Special train of railway departing with 1200 people will reach Jharkhand at 11 pm
 

Lockdown: 1200 प्रवासियों को लेकर निकली रेलवे की स्पेशल ट्रेन रात 11 बजे पहुंचेगी झारखंड

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2020, 15:02 IST

coronavirus: लॉकडाउन के दौरान फंसे प्रवासियों को निकालने के लिए रेलवे ने अपनी स्पेशल ट्रेन तेलंगाना के लिंगमपल्ली से झारखंड के हटिया के लिए रवाना कर दी है. यह ट्रेन 1,200 प्रवासियों को अपने घरों तक पहुंचाएगी. इस ट्रेन के रात के 11 बजे हटिया पहुंचने की उम्मीद है.

लॉकडाउन के बाद यह पहली ऐसी रेलगाड़ी है जिसे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने फंसे हुए मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और तीर्थयात्रियों को घरों तक पहुंचाने के मकसद से अनुमति दी है. एक रिपोर्ट के अनुसार रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुण कुमार ने कहा "24 कोच की ट्रेन आज सुबह 4.50 बजे रवाना हुई और ट्रेन शुक्रवार को लगभग रात 11 बजे झारखंड के हटिया पहुंचेगी.


जिन राज्यों ने विशेष ट्रेनें चलाने की मांग की है उसमें बिहार, राजस्थान, महाराष्ट्र और दक्षिण भारत के राज्य शामिल हैं. हालांकि केंद्र सरकार ने एक गाइडलाइन जारी कर कहा कि केवल सड़क के माध्यम से ही मजदूरों को वापस अपने राज्य लाया जा सकता है.

Coronavirus Lockdown : हरियाणा में महंगा होगा पेट्रोल-डीजल और बसों का किराया

इस बीच झारखंड में अधिकारियों ने कहा कि राज्य ने लौटने वाले प्रवासियों के टेस्ट और क्वारंटीन के लिए पर्याप्त व्यवस्था की है. वहीं रेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि तेलंगाना सरकार के अनुरोध पर यह विशेष ट्रेन चलाई गई थी. उन्होंने कहा स्टेशन पर यात्रियों की जांच और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया है. लॉकडाउन के बीच लाखों प्रवासी श्रमिकों ने अपने घरों को वापस जाने की अनुमति की मांग की है.

Coronavirus: गृह मंत्रालय ने दी प्रवासियों के घर वापसी की मंजूरी, राज्यों ने की विशेष ट्रेन चलाने की मांग

बुधवार को आईआईटी हैदराबाद परिसर में एक निर्माण स्थल पर कार्यरत सैकड़ों प्रवासी कामगारों ने निर्माण कंपनियों के अधिकारियों पर हमला किया, वह घर जाने की अनुमति की मांग कर रहे थे. इसी तरह गुजरात के सूरत शहर में श्रमिकों ने एक निर्माण स्थल के कार्यालय में तोड़फोड़ की. पिछले महीने हजारों प्रवासी श्रमिक मुंबई के बांद्रा इकट्ठा हुए थे.

COVID-19: दुबई में फंसे 32,000 से अधिक भारतीय आना चाहते हैं वापस

First published: 1 May 2020, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी