Home » इंडिया » coronavirus: Supreme Court order - do test for corona virus in private labs free
 

coronavirus: सुप्रीम कोर्ट का आदेश- प्राइवेट लैब्स फ्री में करें कोरोना वायरस के टेस्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 April 2020, 21:44 IST

Coronavirus: सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कहा कि प्राइवेट लैब्स में कोरोना वायरस के टेस्ट मुफ्त में किए जाने चाहिए और सरकार से कहा कि जल इस संबंध में आदेश पारित करें. जस्टिस अशोक भूषण और एस रवींद्र भट की पीठ ने केंद्र सरकार को यह सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया कि निजी लैब सार्वजनिक से ज्यादा शुल्क न लें. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार इसके लिए एक मजबूत व्यवस्था तंत्र बनाये.

केंद्र का प्रतिनिधित्व कर रहे सॉलिसिटर जनरल (SG) तुषार मेहता ने कहा कि सरकार इस मोर्चे पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रही है. उन्होंने कहा कि पहले 15,000 प्रयोगशालाओं द्वारा प्रति दिन 15,000 परीक्षण किए गए थे और बाद में क्षमता बढ़ाने के लिए 47 निजी प्रयोगशालाओं को COVID-19 परीक्षणों का संचालन करने की अनुमति दी गई थी.


वर्तमान में निजी लैब्स को कोरोनोवायरस बीमारी के टेस्ट के लिए लोगों से 4,500 रुपये लेने की अनुमति है. शीर्ष अदालत वकील शशांक देव सुधी द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें देश के सभी नागरिकों को COVID-19 के लिए नि: शुल्क टेस्ट सुविधा प्रदान करने के लिए केंद्र और अधिकारियों को निर्देश देने की मांग की गई थी.

याचिका में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की 17 मार्च की एडवाइजरी पर सवाल उठाया गया था.भारत में कोरोनोवायरस के मामलों की संख्या बुधवार को बढ़कर 5,194 हो गई, जिसमें 149 मरीजों की मौत हो गई है.

पीएम मोदी ने मीटिंग में दिए संकेत- 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन खोलना संभव नहीं

First published: 8 April 2020, 21:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी