Home » इंडिया » Coronavirus: Supreme Court refuses to give order for close liquor shops during lockdown
 

लॉकडाउन: शराब की दुकानें बंद करने का आदेश देने से SC का इंकार, कहा- होनी चाहिए होम डिलीवरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 May 2020, 14:31 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण देश में लॉकडाउन की स्थिति है. हालांकि पूरे देश में शराब की दुकानें खोली जा चुकी हैं. इसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना थोड़ा मुश्किल हो रहा था. जिसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर शराब की दुकानें बंद करने की मांग की गई थी. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने शराब की दुकानें बंद करने से इंकार करते हुए राज्य सरकारों से कहा है कि सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए वो शराब की अप्रत्यक्ष बिक्री यानि कि होम डिलीवरी पर विचार करें. दरअसल, याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि शराब की दुकानों में सामाजिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है.

याचिका में कहा गया था कि देश में शराब की दुकानें कम हैं लेकिन शराब खरीददार ज्यादा हैं. इस लिए इन लोगों की वजह से आम आदमी की जिंदगी को खतरे में नहीं डाला जा सकता. सुप्रीम कोर्ट में गृहमंत्रालय के उस गाइडलाइन को चुनौती दी गई थी, जिसमें देश में जारी लॉकडाउन के दौरान शराब की बिक्री को अनुमति दी गई थी.

याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कहा कि ये गाइडलाइन असंवैधानिक और शून्य है. इसे संज्ञान में लेकर सुप्रीम कोर्ट शराब की बिक्री पर रोक लगाए. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने शराब की दुकानों को बंद करने को लेकर कोई भी आदेश जारी करने से इनकार कर दिया है. फिलहाल दुकानों पर शराब बिकती रहेंगी.

कोरोना संकट के बीच देश के लिए बड़ी खुशखबरी, चीनी सीमा तक पहुंची भारत की सड़क

गौरतलब है कि देश में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. भारत में पिछले चार दिनों से लगातार 3000 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. एक दिन पहले यानि 7 मई को देश में कुल 3364 नए मामले सामने आए. इस दौरान मरने वालों का आंकड़ा 104 रहा. 4 मई को भारत में एक दिन में सबसे ज्यादा 175 लोगों की मौत हुई थी और 3932 मामले सामने आये थे.

कोरोना संकट के बीच खुशखबरी, पिछले 24 घंटों में 13 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से एक भी केस नहीं

Coronavirus: शराब खरीदने के लिए अब आपको ऑनलाइन लेना होगा टोकन, दिल्ली सरकार की नई व्यवस्था

First published: 8 May 2020, 14:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी