Home » इंडिया » Coronavirus: Top doctors' warning danger of paralysis from hasty Covid-19 vaccine
 

कोरोना वायरस: डॉक्टर्स की चेतावनी- जल्दबाजी में बनी वैक्सीन से पैरालिसिस का खतरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2020, 11:54 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इस बीच टॉप डाक्टर्स ने चेतावनी जारी की है कि जल्दबाजी में बनी कोरोना वैक्सीन से पैरालिसिस का खतरा बढ़ जाएगा. दुनियाभर के वैज्ञानिक और महामारी एक्सपर्ट जल्दबाजी में बनी कोरोना वैक्सीन को लेकर चिंतित है.

ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख डॉक्टर तथा ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पीटर कॉलिग्नन ने चिंता जाहिर की है कि जल्दबाजी में बनाई गई कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट के रूप में पैरालिसिस जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है. पीटर विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ काम कर चुके हैं. वह माइक्रोबायोलॉजिस्ट हैं.

पीटर ने चेतावनी जारी कि है कि एक साल से पहले कोरोना वैक्सीन के उत्पादन से लाभ से अधिक नुकसान हो सकता है. उनका कहना है कि ऑस्ट्रेलिया को एक साल तक वैक्सीन नहीं मिलेगी. ऑस्ट्रेलिया सरकार को उन्होंने विदेशों से वैक्सीन खरीदने की जल्दबाजी न करने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि जो वैक्सीन पूरी तरह जांची नहीं गई, उससे सुरक्षा नहीं मिलेगी.

Video: जब अटल बिहारी वाजपेयी के गुस्से से बचाने के लिए नरेंद्र मोदी के ढाल बने थे लालकृष्ण आडवाणी

पीटर ने कहा कि इससे लोग न्यूमेनिया से पीड़ित हो सकते हैं. जल्दबाजी में बनी वैक्सीन की वजह से पैरालाइसिस जैसी बीमारी हो सकती है. बता दें कि दुनियाभर में अब तक दो करोड़ 18 लाख 26 हजार 450 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. अब तक इससे सात लाख 73 हजार 72 लोगों की मौत हो चुकी है.

पिछले 24 घंटों में पूरे विश्व में दो लाख 20 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए. इस दौरान 4800 से ज्यादा लोगों की मौत हुई. भारत में अब तक 26 लाख 47 हजार 663 लोग कोविड-19 पॉजिटिव (COVID-19 Positive) पाए गए हैं. अब तक 51,045 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है. पिछले चौबीस घंटों के दौरान भारत में 58,400 से ज्यादा नए मामले सामने आए. इस दौरान 961 लोगों की मौत हुई.

Video: BJP सांसद की सलाह- कीचड़ में नहाते समय शंख बजाने से पास नहीं आएगा कोरोना वायरस

NCC में भर्ती होंगे तटीय जिलों के एक लाख कैडेट्स, रक्षा मंत्रालय ने लगाई प्रस्ताव पर मुहर

First published: 17 August 2020, 11:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी