Home » इंडिया » Coronavirus will end in summer - Doctor issued notice on this claim
 

'भारत में गर्मियों में ख़त्म हो जायेगा कोरोना वायरस'- ऐसा दावा करने पर डॉक्टर को नोटिस जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2020, 14:12 IST

कोरोनोवायरस संक्रमण के बारे में फैलाई जा रही गलत सूचनाओं को लेकर महाराष्ट्र मेडिकल काउंसिल (MMC) ने कड़ा रुख अपनाया है. एमएमसी ने मुंबई के एक डॉक्टर को नोटिस जारी किया है. डॉक्टर ने वायरस को 'चीनी बीमारी' करार दिया था और कहा था कि कोरोना वायरस (Coronavirus) गर्मियां आते ही ख़त्म हो जायेगा. एमएमसी ने मध्य मुंबई के दादर से डॉ. अनिल पाटिल से स्पष्टीकरण मांगा है कि क्या उनके दावे को पुष्ट करने के लिए उनके पास कोई स्टडी है.

एक रिपोर्ट के अनुसार MMC के अध्यक्ष डॉ. शिवकुमार उटेकर का कहना है कि मंगलवार को डॉ. अनिल पाटिल को एक नोटिस जारी किया गया है और यह पूछा गया है कि उनके पास वायरस के बारे में उनके दावे को प्रमाणित करने के लिए कोई अध्ययन या डेटाबेस है या नहीं."उन्होंने कहा कि डॉ. पाटिल ने अपने इंटरव्यू में कई दावे किए थे जो केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए परामर्शों का प्राथमिक उल्लंघन है.

मास्क बनाने वाली फैक्ट्रियों की चाल 

उन्होंने कहा ''डॉ. पाटिल की ओर से केंद्र और राज्य सरकारों की सलाह के खिलाफ कोरोनो वायरस प्रकोप के बारे में बोलना स्वीकार करने योग्य नहीं है. हमने उनसे उनके दावों को स्पष्ट करने के लिए कहा क्योंकि उन्होंने बार-बार प्रकोप और इसकी गंभीरता को खारिज कर दिया था''. डॉ. उटेकर ने कहा कि डॉ. पाटिल ने कथित तौर पर दावा किया था कि कोरोनोवायरस पर डर सही नहीं है और यह वायरस भारतीय गर्मियों में जीवित नहीं रहेगा.

डॉ. पाटिल ने यह भी दावा किया था कि वायरस एक चीनी सनक है जिसका उद्देश्य मास्क बनाने वाली फैक्ट्रियों के लिए व्यावसायिक अवसर तैयार करना है. डॉ. पाटिल ने यह भी दावा किया था कि गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (SARS), जो 2002 में चीन में सामने आया था, इसका भारतीयों पर कोई असर नहीं पड़ा. 

डॉ. उटेकर ने कहा "उनकी वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है, जिससे लोग लापरवाह हो सकते हैं,  इसलिए हमने उन्हें नोटिस जारी किया गया है." महाराष्ट्र में सीओवीआईडी-19 से एक व्यक्ति की मौत हो गई है. जबकि 38 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं.

पूर्व CJI गोगोई को राज्यसभा भेजे जाने पर हंगामा, साथी जज रहे जस्टिस लोकुर ने भी दी प्रतिक्रिया

First published: 17 March 2020, 14:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी