Home » इंडिया » Coronavirus: Yogi govt accepts Priyanka Gandhi proposal to run 1000 buses demands list
 

UP: प्रियंका गांधी ने 1000 बस चलाने की मांगी थी अनुमति, योगी सरकार ने कहा- भेजिए बसों की लिस्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2020, 17:10 IST

Coronavirus: कोरोना संकट के दौरान देशभर में जारी लॉकडाउन के बीच हजारों मजदूर पैदल ही अपने घरों के लिए जाते दिखाई दे रहे हैं. इस दौरान कांग्रेस नेता और उत्तर प्रदेश की पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने राज्य के योगी सरकार पर निशाना साधते हुए 1000 बसें चलाने की अनुमति मांगी थी. इस पर पलटवार करते हुए योगी सरकार ने उनसे अब बसों की लिस्ट मांग ली है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर प्रियंका गांधी के सवालों का जवाब दिया. उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वैश्विक महामारी के समय में कांग्रेस द्वारा की जा रही नकारात्मक रा जनीति की निंदा होनी चाहिए. सीएम योगी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि उनकी सरकार सभी बसों को अनुमति देगी, यदि कोई दल मजदूरों और बसों की सूची दे.

योगी सरकार की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि यूपी सरकार इस विश्वव्यापी कोरोना संकट के समय में अपने श्रमिकों की सकुशल वापसी को लेकर पूरी प्रतिबद्ध है. भारत सरकार के सहयोग से अब तक राज्य के 14 लाख से अधिक प्रवासी कामगार सुरक्षित वापस आए हैं. परिवहन निगम की 12 हजार बसों को सरकार ने श्रमिकों की सेवा में लगाई है.

योगी सरकार की तरफ से कहा गया है कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी कहती हैं कि उनके पास 1000 बसें हैं. इसके आगे कहा गया कि यह और बात है कि अब तक इन बसों की सूची उपलब्ध नहीं कराई गई है. इसके अलावा मजदूरों की सूची भी नहीं दी गई है. यदि बसों और हमारे साथियों की सूची सरकार को उपलब्ध करा दी जाए, तो कांग्रेस के काम ट्विटर नहीं धरातल पर दिखें.

दरअसल, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कांग्रेस की बसों को यूपी में एंट्री की मांग की थी. एक ट्वीट में प्रियंका गांधी ने कहा था, "हमारी बसें बॉर्डर पर खड़ी हैं. हजारों की संख्या में राष्ट्र निर्माता श्रमिक और प्रवासी भाई-बहन धूप में पैदल चल रहे हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ परमीशन दीजिए.हमें अपने भाइयों और बहनों की मदद करने दीजिए."

Coronavirus: रोजाना बढ़ते कोविड-19 मामलों के बीच जानिए क्या है भारत का रिकवरी रेट

कांग्रेस पार्टी ने इसके बाद कहा था कि भरतपुर और अलवर से 500 बसें यूपी रवाना होने को तैयार हैं. वहीं, यूपी के बहज गोबर्धन बॉर्डर पर बसें पहुंच चुकी हैं और एंट्री की इजाजत मिलने का इंतजार कर रही हैं. कांग्रेस की तरफ से कहा गया था कि इन बसों में यूपी के प्रवासी मजदूर सवार हैं.

मास्क पहनकर रनिंग कर रहा था शख्स, प्रेशर के चलते फटे फेफड़े, बाएं से दाएं खिसका दिल

सावधान! बिना लक्षण वाले मरीज से भी बात करने पर हो सकते हैं कोरोना पॉजिटिव- रिपोर्ट में दावा

First published: 18 May 2020, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी