Home » इंडिया » Court rejects Lucknow Police report of clean chit to Mulayam Singh in IPS Amitabh Thakur threatening case
 

आईपीएस को धमकी के मामले में मुलायम को झटका, क्लीन चिट की रिपोर्ट खारिज

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 August 2016, 14:27 IST
(फेसबुक)

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर को धमकी देने के मामले में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को झटका लगा है. फोन पर धमकी देने के आरोप में मुलायम को क्लीन चिट देने वाली पुलिस की अंतिम रिपोर्ट को कोर्ट ने खारिज कर दिया है.

इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संध्या श्रीवास्तव ने अमिताभ ठाकुर की प्रोटेस्ट याचिका को मंजूर करते हुए इस मामले की अगली विवेचना के आदेश दिए हैं.

30 सितंबर तक फॉरेंसिक रिपोर्ट तलब

सीजेएम कोर्ट ने मंगलवार को लखनऊ पुलिस को इस मामले में आदेश जारी किया है. अदालत ने कहा है कि पुलिस 30 सितंबर तक इस मामले से संबंधित सीडी का विधि विज्ञान प्रयोगशाला में परीक्षण करवाए और अपनी रिपोर्ट पेश करे.

अदालत ने मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि दाखि‍ल की गई अंतिम रिपोर्ट हकीकत से हटकर है.

आवाज का नमूना सत्यापित नहीं

लखनऊ की सीजेएम कोर्ट ने कहा, "जांच अधिकारी ने सीडी में मौजूद आवाज के नमूने का विधि विज्ञान प्रयोगशाला में परीक्षण नहीं करवाया.

इससे यह साफ नहीं हो रहा है कि सीडी में रिकॉर्ड बातचीत किन दो लोगों के बीच की है. इसके अलावा वॉयस रिकॉर्डिंग का नमूना भी किसी सक्षम सरकारी एजेंसी से सत्यापित नहीं है."

आईपीएस अमिताभ ठाकुर की अर्जी

यूपी पुलिस में आईजी अमिताभ ठाकुर ने 16 अक्टूबर 2015 को सीजेएम अदालत में प्रोटेस्ट अर्जी दाखिल करते हुए लखनऊ पुलिस की फाइनल रिपोर्ट रद्द करने की मांग की थी.

आईपीएस अमिताभ का कहना है कि जांच से यह पूरी तरह साबित हो गया है कि मुलायम सिंह यादव ने उन्हें फोन पर वही बातें कही थीं, जो उन्होंने एफआईआर मे दर्ज करवाई थीं.

अमिताभ ठाकुर का आरोप है कि राज्य सरकार के दबाव मे जांच अधिकारी ने पूरी तरफ से एकतरफा रिपोर्ट अदालत में पेश की है. आईपीएस अमिताभ ठाकुर अभी उत्तर प्रदेश में आईजी रूल्स एंड मैनुअल के पद पर कार्यरत हैं.

आईपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर. (फेसबुक)
First published: 24 August 2016, 14:27 IST
 
अगली कहानी