Home » इंडिया » Covid-19 cess can be imposed by Modi government, tax can be collected from high earners
 

कोविड-19 सेस लगा सकती है मोदी सरकार, ज्यादा कमाई करने वालों से वसूला जा सकता है टैक्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2021, 14:54 IST

Coronavirus: भारत ने हाल ही में दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी है. पहली वैक्सीन ऑक्सपोर्ड की कोविशील्ड है, जिसे सीरम इंस्टीट्यूट तैयार कर रही है. वहीं दूसरी वैक्सीन भारत बायोटेक की कोवैक्सीन है. इस बीच खबर आ रही है कि केंद्र सरकार ज्यादा कमाई करने वाले लोगों पर कोविड-19 सेस लगा सकती है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कोरोना महामारी की वजह से सरकारी कोष से हुए अतिरिक्त खर्च की भरपाई के लिए केंद्र की मोदी सरकार कोविड-19 सेस लगाने की तैयारी कर रही है. हालांकि, यह बात अभी सामने नहीं आई है कि सरकार इसे सेस या सरचार्ज के रूप में लागू करेगी. बताया जा रहा है कि बजट में ऐलान से ठीक पहले सरकार इस बारे में अंतिम फैसला ले सकती है.

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने इस बारे में एक प्रस्ताव पर चर्चा की है. शुरुआती दौर में छोटा सेस लगाने की बात कही गई है. इसके लिए ज्यादा इनकम के दायरे में आने तथा कुछ इनडायरेक्ट टैक्स के रूप में इस सेस को लगाया जा सकता है. बताया जा रहा है कि  केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल या कस्टम ड्यूटी पर भी सेस लगा सकती है.

बता दें कि देश में पिछले लगभग एक साल से कोरोना वायरस महामारी की वजह से सरकारी खजाने पर काफी बोझ बढ़ा है. इस बीच केंद्र सरकार कोविड-19 वैक्सीन लगाने जा रही है, जिसका खर्च भी केंद्र सरकार उठाएगी और लोगों को फ्री में वैक्सीन लगाया जाएगाा. इसलिए सरकार कोविड सेस के जरिए फंड्स जुटाना चाहती है.

केंद्र कृषि कानूनों को लागू करने पर रोक नहीं लगाती तो हम इन पर रोक लगाएंगे- सुप्रीम कोर्ट

Corona vaccination: PM मोदी आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा

First published: 11 January 2021, 14:54 IST
 
अगली कहानी