Home » इंडिया » Covid-19: The Center gave this answer on the news of the hacking of the vaccine portal CoWIN, read what it said?
 

Covid-19 : वैक्सीन पोर्टल CoWIN के हैक होने की ख़बरों पर केंद्र ने दिया ये जवाब, पढ़िए क्या कहा ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2021, 10:02 IST
(Catch News)

केंद्र ने गुरुवार को CoWIN हैक होने की मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया है कि प्रथम दृष्टया, ये रिपोर्ट नकली प्रतीत होती है और पोर्टल सभी टीकाकरण डेटा को एक सुरक्षित और सुरक्षित डिजिटल वातावरण में स्टोर करता है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है "कोविन प्लेटफॉर्म के हैक होने की कुछ निराधार मीडिया रिपोर्ट्स आई हैं. प्रथम दृष्टया ये रिपोर्ट फर्जी प्रतीत होती है."

वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन (CoWIN) पर अधिकार प्राप्त समूह के अध्यक्ष डॉ आरएस शर्मा ने स्पष्ट किया कि "हमारा ध्यान CoWIN सिस्टम की कथित हैकिंग के बारे में सोशल मीडिया पर प्रसारित समाचारों की ओर आकर्षित किया गया है. इस संबंध में हम यह बताना चाहते हैं कि CoWIN सभी टीकाकरण डेटा को एक सुरक्षित और सुरक्षित डिजिटल वातावरण में स्टोर करता है. CoWIN वातावरण के बाहर किसी भी यूनिट के साथ कोई CoWIN डेटा साझा नहीं किया जाता है. डेटा लीक होने का दावा किया जा रहा है जिसमें लाभार्थियों जिओ-लोकेशन, CoWIN पर भी एकत्र नहीं किया जाता है".


आज भी एक लाख से कम दैनिक मामले 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में आज चौथे दिन कोरोना वायरस के एक लाख से कम नए मामले आए. दैनिक पॉजिटिविटी रेट 4.49 फीसदी और रिकवरी रेट 94.93 फीसदी है. भारत में COVID19 के 91,702 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 2,92,74,823 हो गई है. 3,403 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 3,63,079 हो गई है. 1,34,580 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 2,77,90,073 है. देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 11,21,671 है. देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 32,74,672 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 24,60,85,649 हुआ.

भारत में टीकाकरण

देश ने अब तक 24,60,85,649 एंटी-कोविड टीके लगाए गए हैं. इनमें से, स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 32,74,672 शॉट दिए गए.
केंद्र सरकार ने राज्यों से हेल्थकेयर वर्कर्स (HCW) और फ्रंटलाइन वर्कर्स (FLW) के बीच दूसरी खुराक के कवरेज को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है. पंजाब, महाराष्ट्र, हरियाणा, तमिलनाडु, दिल्ली और असम सहित 18 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय औसत से नीचे कवरेज है.

एम्स के डॉक्टरों और कोविड -19 पर राष्ट्रीय टास्क फोर्स के सदस्यों सहित सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों के एक समूह ने केंद्र सरकार से कहा है कि अभी पॉजिटिव हुए लोगों को टीका लगाने की कोई आवश्यकता नहीं है. उनकी सिफारिशों के अनुसार, जो लोग कोविड से ठीक हो चुके हैं, उन्हें इस बात का सबूत देने के बाद टीका लगाया जा सकता है कि टीका प्राकृतिक संक्रमण के बाद फायदेमंद है.

सस्ती हो सकती हैं कोविड और ब्लैक फंगस से संबंधित दवाएं, GST परिषद की बैठक जल्द

 

First published: 11 June 2021, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी