Home » इंडिया » COVID-19 will come under control by Diwali this year, soon vaccine is also possible- Harshvardhan
 

इस साल दिवाली तक कंट्रोल में आ जायेगा COVID-19, जल्द वैक्सीन भी संभव- हर्षवर्धन

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 August 2020, 8:58 IST

Coronavirus : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रविवार को विश्वास व्यक्त किया कि देश में COVID-19 इस साल दिवाली तक नियंत्रण में आ जायेगा. अनंत कुमार फाउंडेशन (Ananth Kumar Foundation) द्वारा आयोजित 'नेशन फर्स्ट' वेबिनार श्रृंखला का उद्घाटन करते हुए उन्होंने बताया कि देश महामारी से निपटने में बहुत आगे है.

उत्तर प्रदेश: सरकार ने सभी डीएम से मांगा विवरण- कितने ब्राह्मणों के पास है बंदूक लाइसेंस


एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस साल दीपावली पर कोविड-19 काफी हद तक नियंत्रण में आ जाएगी. कहा गया है नेताओं और आम लोगों ने मिलकर महामारी से लड़ने के लिए प्रभावी रूप से काम किया. उन्होंने कहा "वायरस ने हमें एक निश्चित सबक सिखाया है, इसने हमें सिखाया है कि एक 'न्यू नार्मल' होना चाहिए और हमें अपनी जीवन शैली के बारे में अधिक सतर्क रहने की जरूरत है."

स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने इस साल के अंत तक COVID-19 के खिलाफ टीका लगाने की भी उम्मीद जताई. उन्होंने कहा "हम COVID के खिलाफ वैक्सीन में योगदान देने के अपने प्रयासों में पूरी दुनिया में किसी और से पीछे नहीं रहे हैं. भारत में हमारे पास लगभग 7-8 वैक्सीन कैंडिडेट हैं, जिनमें से तीन क्लिनिकल ट्रायल फेज में हैं.

उन्होंने कहा इस साल के अंत तक हमें उम्मीद है कि कोविड के खिलाफ एक टीका प्राप्त करने में हम सक्षम होंगे. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि फरवरी में केवल एक कोविड टेस्टिंग लैब थी जो अब बढ़कर 1,583 हो गई है, और इसमें से 1,000 से अधिक सरकारी प्रयोगशालाएं हैं.

उन्होंने कहा कि देश प्रति दिन लगभग 1 मिलियन परीक्षण कर रहा है जो लक्ष्य से आगे है. उन्होंने कहा कि पहले की तुलना में अब पीपीई किट, वेंटिलेटर और एन 95 मास्क की कमी नहीं है. हर्षवर्धन ने कहा "पीपीई किट, वेंटिलेटर और एन 95 मास्क की कमी अब नहीं है. हर दिन देश में पांच लाख पीपीई किट का उत्पादन किया जाता है, जबकि 10 निर्माता एन 95 मास्क का उत्पादन कर रहे हैं. 25 निर्माता वेंटिलेटर का निर्माण कर रहे हैं."

Coronavirus: देश में पहली बार एक दिन में साढे़ 10 लाख से ज्यादा हुए टेस्ट, अब तक कुल 4.14 करोड़

First published: 31 August 2020, 8:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी