Home » इंडिया » cow and humans are 80 percent same
 

गाय 80 फ़ीसदी इंसान है: गृह मंत्री राजनाथ सिंह

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2016, 19:44 IST

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गोरक्षकों से कहा है कि गाय में 80 फ़ीसदी जीन्स इंसानों जैसे होते हैं. उन्होंने अमेरिकी वैज्ञानिकों के शोध का हवाला देते हुए कहा है कि गाय में 80 फ़ीसदी जींस वही हैं, जो इंसानों में पाए जाते हैं. 

राजनाथ सिंह रविवार को जेएलएन स्टेडियम में गोभक्त श्रद्धांजलि समारोह में गोरक्षकों को संबोधित कर रहे थे. यहां उन्होंने कहा, 'गोरक्षा आस्था, संस्कृति और आध्यात्मिक भावना से जुड़ा होने के नाते बेहद महत्वपूर्ण विषय है. हमने बांग्लादेश की सीमा पर होने वाली तस्करी को रोका है लेकिन अभी इस दिशा में बहुत काम किए जाने की ज़रूरत है'.

वहीं उन्होंने अमेरिकी वैज्ञानिकों के हवाले से कहा, '80 फ़ीसदी जीन्स समान होने के नाते इंसान और गाय में ज़्यादा फर्क़ नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि गाय संस्कृति नहीं बल्कि आस्था का भी मुद्दा है जिसे आर्थिक, ऐतिहासिक और वैज्ञानिक नज़रिए से भी देखे जाने की ज़रूरत है'. 

तमाम साधु संतों और गोरक्षकों से उन्होंने कहा कि गोहत्या और गोमांस पर पाबंदी वैदिक काल से है. यहां तक कि मुग़ल काल में बहादुरशाह ज़फ़र, अक़बर और जहांगीर के शासनकाल में इसपर पाबंदी थी. बाबरनामा में लिखा है कि जब तक गोहत्या बंद नहीं की जाती, तब तक हिन्दुस्तान पर हुक़ूमत नहीं हो सकती'.

हालांकि सोशल मीडिया पर राजनाथ सिंह के 80 फ़ीसदी जीन्स वाले बयान का मज़ाक भी बनाया जा रहा है. 

सोमवार को कैराना पहुंचे

वहीं सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना कस्बे में पहुंचे. यहां उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, 'हमें यूपी में ना तकरार चाहिए ना भ्रष्टाचार चाहिए, हमें तो यूपी में विकास के लिए भाजपा की सरकार चाहिए'. 

उन्होंने भारतीय सेना पर गर्व की भी बात कही है. 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली ज़िले में कैराना वही कस्बा है जहां के बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने डर के नाते हिंदुओं के पलायन का आरोप लगाया था. हालांकि बाद में वह अपना दावा साबित नहीं कर पाए थे. कथिततौर पर कैराना से पलायन कर गए हिंदुओं की उन्होंने एक लिस्ट जारी की थी जिसमें भी तमाम ख़ामियां पाई गई थीं.

First published: 7 November 2016, 19:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी